सतर्क हुआ मुंबई! वानखेड़े में खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट के लिए सिर्फ 25% दर्शकों को मिलेगी स्टेडियम में एंट्री

पुनः संशोधित शनिवार, 27 नवंबर 2021 (18:40 IST)
मुंबई: और के बीच यहां तीन दिसंबर से यहां शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट के दौरान वानखेड़े स्टेडियम की क्षमता के 25 प्रतिशत दर्शकों को ही अनुमति दी जायेगी और मेजबान संघ का कहना है कि वह संख्या बढ़ाने की कोशिश कर रहा है।

वानखेड़े स्टेडियम में 30,000 दर्शकों के बैठने की क्षमता है। मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) के एक अधिकारी ने कहा कि वे इस सीमा को बढ़ाकर 50 प्रतिशत तक कराने की कोशिश करेंगे।

अधिकारी ने कहा, ‘‘महाराष्ट्र सरकार के मुख्य सचिव द्वारा हस्ताक्षरित आम आदेश के अनुसार अभी तक वानखेड़े टेस्ट के लिये 25 प्रतिशत दर्शकों को अनुमति दी जायेगी। एमसीए उम्मीद लगाये है कि वे 50 प्रतिशत दर्शकों की अनुमति भी दे सकते हैं। ’’

इस स्टेडियम में अंतिम टेस्ट इंग्लैंड के खिलाफ दिसंबर 2016 में हुआ था।इस मैच से इस स्थल पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी भी होगी क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण पिछले साल खेल गतिविधियां बंद हो गयी थीं।

गौरतलब है कि दूसरे टेस्ट के लिए विराट कोहली टेस्ट टीम में बतौर कप्तान और बल्लेबाज वापस आएंगे और अगर कानपुर में चल रहे पहले टेस्ट को भारत जीत जाता है तो दूसरे टेस्ट के लिए दर्शकों में उत्साह खासा बढ़ जाएगा।

उप कप्तान अजिंक्य रहाणे न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में भारतीय टीम की अगुआई कर रहे हैं और नियमित कप्तान विराट कोहली दूसरे टेस्ट में जिम्मेदारी संभालने के लिये लौट आयेंगे जबकि सभी प्रारूपों के कुछ बड़े स्टार खिलाड़ियों को बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) की कार्यभार प्रबंधन नीति के अनुसार श्रृंखला में पूर्ण आराम दिया गया था।

टी20 कप्तान और नियमित सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा, विकेटकीपर ऋषभ पंत और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी को कानपुर (25 से 29 नवंबर) और मुंबई (तीन से सात दिसंबर) में दो टेस्ट मैचों के लिये आराम दिया गया था।

भारतीय टेस्ट टीम के बल्लेबाज लोकेश राहुल बायीं जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 25 नवम्बर से शुरू हुई दो मैचों की टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए थे।

सतर्कता के पीछे कारण है Omicron

इस सतर्कता के पीछे कोरोना का नया वैरिएंट प्रमुख कारण है। मुंबई की मेयर के किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि दक्षिण अफ्रीका से मुंबई आने वाले यात्रियों को अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन किया जाएगा। इसके साथ ही यदि अफ्रीका से आने वाला कोई व्‍यक्ति कोरोना से संक्रमित पाया जाता है तो उसकी जीनोम सीक्‍वेंसिंग की जाएगी।
पेडनेकर ने कहा कि नए वैरिएंट को लेकर मुंबई में भी चिंता है। इसी‍ के चलते अफ्रीका से आने वाले ऐसे यात्री जो कोरोना पॉजिटिव पाए जाते हैं, उनकी जीनोम सीक्‍वेंसिंग की जाएगी। उन्होंने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और मास्क पहनने की अपील की है। हालांकि उन्होंने कहा कि उड़ानों पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं है।



और भी पढ़ें :