1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. समाचार
  4. Smirit Mandhana Shares Women of the match award with Harmanpreet
Written By
पुनः संशोधित शनिवार, 12 मार्च 2022 (18:00 IST)

स्मृति ने मैन ऑफ द मैच अवार्ड हरमनप्रीत के साथ किया साझा, दोनों शतकवीरों ने जोड़े थे 184 रन

हैमिल्टन: भारत की स्टायलिश बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने कहा है कि हरमनप्रीत दबाव में होने पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करती है। दोनों ने वेस्टइंडीज के खिलाफ महिला विश्व कप के मैच में शतक जमाकर भारत को 155 रन से जीत दिलाई।

स्मृति ने 119 गेंद में 123 रन बनाकर पांचवां वनडे शतक जमाया जबकि हरमनप्रीत ने 107 गेंद में 109 रन बनाये जो उनका चौथा वनडे शतक है। आस्ट्रेलिया के खिलाफ 2017 विश्व कप में नाबाद 171 रन बनाने के बाद यह उनका पहला शतक था।

स्मृति ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में अपना ‘प्लेयर आफ द मैच पुरस्कार’ हरमनप्रीत के साथ साझा करते हुए कहा ,‘‘ मुझे लगता है कि जब उस पर दबाव बना होता है तो वह अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करती है । यह हम सभी ने देखा है।’’उन्होंने कहा ,‘‘ वह काफी मेहनत करती रहती है। विश्व कप में हमेशा वह बेहतरीन प्रदर्शन करती है।’’
उन्होंने कहा ,‘‘ वह हमारे मध्यक्रम का महत्वपूर्ण हिस्सा है। मुझे खुशी है कि उसने शानदार वापसी की। वह अभ्यास सत्रों में अच्छा प्रदर्शन हर रही थी। हमें हमेशा से यकीन था कि वह रन बनायेगी । खुश हूं कि उसने लगातार दो अर्धशतक बनाये। इससे आगे के मैचों में उसका आत्मविश्वास बढेगा।’’

दोनों के बीच 184 रन की रिकॉर्ड साझेदारी के बारे में स्मृति ने कहा ,‘‘ जब वह बल्लेबाजी के लिये आई तो हालात पेचीदा थे। मैं नहीं चाहती थी कि उसका फोकस टूटे या उसका विकेट जाये। एक बार 30 -40 पर पहुंचने के बाद मजा आने लगा। उसके बाद हमने काफी बात की। वह आज बहुत मुस्कुरा रही थी।’’
न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद टीम ने काफी आत्ममंथन किया। स्मृति ने बताया ,‘‘ हमने पिछले मैच के बाद ड्रेसिंग रूम में काफी बात की। यस्तिका ने आज अच्छी नींव रखी और हमने उसे आगे बढाया। हम पिछले सात आठ महीने से अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं तो उसे लेकर कोई चिंता नहीं थी।’’
वेस्टइंडीज की कप्तान स्टेफानी टेलर ने कहा कि भारत की आक्रामक बल्लेबाजी से वे दंग रह गए।उन्होंने कहा ,‘‘ वे रणनीति बनाकर उतरे थे और हालात को बखूबी समझते थे । हम अपनी रणनीति पर अमल नहीं कर सके ।उनकी आक्रामक बल्लेबाजी देखकर हम दंग रह गए।’’(भाषा)
ये भी पढ़ें
शतक चूके श्रेयस! 2 सत्र के अंदर 252 रनों पर ऑलआउट हुई टीम इंडिया