टीम इंडिया बनी टेस्ट में बेस्ट, तो कोच रवि शास्त्री ने ट्विटर पर ऐसे की तारीफ

Last Updated: शुक्रवार, 14 मई 2021 (13:05 IST)
नई दिल्ली:के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा कि उनकी टीम हर बाधा सहजता से पार करने के बाद टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक का स्थान हासिल करने की हकदार थी।अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने वार्षिक नवीनीकरण (अपडेट) के बाद भी भारत में शीर्ष पर बना हुआ है और शास्त्री इससे खुश हैं।
शास्त्री ने ट्वीट किया, ‘‘टीम ने नंबर एक का ताज हासिल करने के लिये अपने दृढ़ संकल्प और एकाग्रता का शानदार नमूना पेश किया। यह कुछ ऐसा है जिसे खिलाड़ियों ने अपने खेल के दम पर अर्जित किया है। बीच में नियम बदल गये लेकिन भारतीय टीम ने राह में पड़ने वाली हर बाधा को पार किया। मेरे खिलाड़ियों ने मुश्किल समय में कड़ी क्रिकेट खेली। मुझे इस बिंदास टीम पर बहुत गर्व है। ’’
यह पूर्व भारतीय कप्तान 2017 से भारतीय टीम का मुख्य कोच है। विश्व कप 2019 के बाद उनका कार्यकाल बढ़ा दिया गया था।भारत एक रेटिंग अंक समेत कुल 121 अंक लेकर शीर्ष पर है। उसके 24 मैचों में 2914 अंक रहे।
वहीं विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में भारत के खिलाफ खेलने जा रहे न्यूजीलैंड के 120 अंक है। उसके 18 टेस्ट में कुल 2166 अंक हैं।

भारत ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया को 2-1 और इस साल इंग्लैंड को 3-1 से हराया। इसके अलावा न्यूजीलैंड ने वेस्टइंडीज और पाकिस्तान को 2-0 से मात दी। इंग्लैंड 109 रेटिंग अंक लेकर तीसरे और ऑस्ट्रेलिया उससे एक अंक पीछे चौथे स्थान पर है।
पाकिस्तान के 94 अंक है और वह पांचवें स्थान पर है जबकि वेस्टइंडीज 84 अंक लेकर छठे स्थान पर है। दक्षिण अफ्रीका सातवें और श्रीलंका आठवें स्थान पर है जिनके क्रमश: 80 और 78 अंक हैं ।भारत और न्यूजीलैंड साउथम्प्टन में 18 से 22 जून तक पहला विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल खेलेंगे।यानि की आईसीसी की शीर्ष दो टीमों के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का मैच 18 जून से खेला जाएगा।यह एक तरह से टेस्ट का विश्वकप होगा जिसमें विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीम का निर्णय हो जाएगा। हालांकि फिलहाल भारत नंबर 1 टीम बनकर इस फाइनल में उतरेगा।

आईसीसी ने साल 2017 से जब भी टेस्ट रैंकिंग का वार्षिक अपडेट किया है भारतीय टीम नंबर 1 रैंक पर रही है। साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया नंबर 1 रैंक टीम थी। वहीं साल 2015, 2014 और 2013 में इस दौरान दक्षिण अफ्रीका नंबर 1 टेस्ट टीम थी। साल 2012 और 2011 में भारतीय टीम टेस्ट में नंबर 1 रही। इस तरह से देखा जाए तो सफेद लिबास में टीम इंडिया का दबदबा पिछले 10 सालों में कायम रहा है।(भाषा)



और भी पढ़ें :