कभी फर्जी मुसलमान का आरोप लगा था, आज PCB के 36वें अध्यक्ष बने पूर्व कप्तान रमीज राजा

Last Updated: सोमवार, 13 सितम्बर 2021 (16:37 IST)
कराची: पूर्व पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान रमीज राजा को सोमवार को पीसीबी चुनाव आयुक्त न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) शेख अजमत सईद की अध्यक्षता में हुई विशेष बैठक में तीन वर्ष के कार्यकाल के लिए सर्वसम्मति से और निर्विरोध (पीसीबी) का अध्यक्ष चुना गया। 2003 से 2004 तक उन्होंने शहरयार खान की अध्यक्षता में पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में भी काम किया था।

राजा ने अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद बोर्ड ऑफ ग्रुप्स को संबोधित करते हुए कहा, “ मुझे पीसीबी अध्यक्ष के रूप में चुनने के लिए मैं आप सभी का शुक्रगुजार हूं और यह सुनिश्चित करने के लिए कि पाकिस्तान क्रिकेट मैदान और मैदान के बाहर दोनों जगह मजबूत होता रहे मैं आपके साथ काम करने के लिए तत्पर हूं।

उल्लेखनीय है कि राजा को पीसीबी के संरक्षक तथा पाकिस्तान के प्रधानमंत्री द्वारा इस पद के लिए नामित किया गया था। 1992 विश्व कप विजेता अब्दुल हफीज कारदार (1972 से 1977), जावेद बुर्की (1994 से 1995) और एजाज बट (2008 से 2011) के बाद राजा अब पीसीबी का नेतृत्व करने वाले चौथे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर बन गए हैं।

राजा ने कहा, “ मेरी एक मुख्य प्राथमिकता पाकिस्तान की पुरुष क्रिकेट टीम में उसी संस्कृति, मानसिकता, रवैये और दृष्टिकोण को पेश करने में मदद करना होगा, जिसने कभी पाकिस्तान को सबसे खतरनाक क्रिकेट टीमों में से एक बनाया था। एक संगठन के रूप में हम सभी को राष्ट्रीय टीम के पीछे खड़े रहने और उन्हें मुमकिन सहायता और समर्थन प्रदान करने की जरूरत है ताकि वह क्रिकेट के उस ब्रांड का निर्माण कर सके, जिसकी प्रशंसकों को भी उम्मीद होती है जब भी टीम खेल के मैदान में कदम रखती है। ”

पीसीबी अध्यक्ष ने कहा, “ जाहिर है एक पूर्व क्रिकेटर के रूप में मेरी दूसरी प्राथमिकता हमारे अतीत और वर्तमान क्रिकेटरों के कल्याण पर नजर रखना होगा। यह खेल हमेशा क्रिकेटरों से ही रहा है और इन्हीं से रहेगा। क्रिकेटर अपनी वर्तमान स्थिति से अधिक मान्यता और सम्मान के पात्र हैं। ”

ऐसा रहा है क्रिकेट करियर
उल्लेखनीय है कि राजा ने 1984 से लेकर 1997 तक 255 अंतरराष्ट्रीय मैचों में पाकिस्तान क्रिकेट टीम का प्रतिनिधित्व किया है, जिसमें उन्होंने 8674 रन बनाए हैं। उन्होंने 57 टेस्ट और 198 वनडे अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले हैं। उनके नाम टेस्ट में 2 शतकों की बदौलत कुल 2833 रन हैं जबकि वनडे फॉर्मेट में उन्होंने 9 शतक और 31 अर्धशतकों की मदद से 5841 रन बनाए हैं।

मिला था फर्जी मुसलमान का तमगा
रमीज राजा का विवादों से भी नाता रहा है। पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद यूसुफ को उन्होंने फर्जी मुसलमान कहा था। 39 शतक ठोकने वाले मोहम्मद यूसुफ ने भी उन्हें तब सिफारिशी क्रिकेटर बताया था।तेज गेंदबाजों के लिए मशहूर पाकिस्तान की टीम में कुछ चुनिंदा बल्लेबाज है जो आज भी मशहूर है उनमें से एक रमीज राजा है।

लगा था भारत प्रेमी होने का आरोप

रमीज राजा ने हालिया भारत इंग्लैंड सीरीज के दौरान भारतीय टीम की तारीफ की थी। जब भी टीम इंडिया बेहतर प्रदर्शन करती है एक विशेषज्ञ और कमेंटेटर के तौर पर रमीज राजा भारतीय टीम की हौसला अफजाई करने से नहीं चूकते थे। इस कारण पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज सरफराज नवाज ने उन पर भारत प्रेमी होने का आरोप लगाया था। यही नहीं गेंदबाज ने सीधे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेट कप्तान इमरान खान को पत्र लिख डाला था कि वह रमीज राजा को अध्यक्ष ना बनाएं लेकिन इसका कुछ असर नहीं हुआ।

पीसीबी अध्यक्ष बनने से पहले ही मुख्य कोच ने दे दिया था इस्तीफा

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने पिछले सोमवार को घोषणा की थी कि मिस्बाह और वकार ने इस्तीफा दे दिया है।अचानक हुए इस बदलाव को पूर्व टेस्ट कप्तान रमीज राजा के बोर्ड के नए अध्यक्ष के बनने से जोड़कर देखा गया।

रमीज ने अपने यूट्यूब चैनल और एक कमेंटेटर एवं विश्लेषक के रूप में कई बार कहा है कि वह मिस्बाह और वकार को पाकिस्तान टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ कोच नहीं मानते हैं।पिछले सोमवार को घोषित विश्व कप टीम की चयन प्रक्रिया में भी रमीज का प्रभाव दिखा जिसमें उनका झुकाव टी20 प्रारूप में युवा और सहजता से बड़े शॉट खेलने वाले खिलाड़ियों की ओर लगा।



और भी पढ़ें :