Navdeep Saini ने 3 विकेट लेकर श्रीलंका को किया पस्त, भारत ने तीसरा टी20 मैच 78 रनों से जीता

पुनः संशोधित शुक्रवार, 10 जनवरी 2020 (23:33 IST)
पुणे। नवदीप सैनी के 3 कीमती विकेट ने श्रीलंका को पस्त कर दिया। ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरा टी20 मैच 78 रनों से जीतकर सीरीज पर 2-0 से अपना कब्जा जमाया। भारतीय पारी में केएल राहुल और शिखर धवन ने शानदार अर्धशतक जमाए जबकि भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 53 टी20 विकेट लेने वाले गेंदबाज बने।

राहुल (36 गेंदों पर 54 रन, 5 चौके, 1 छक्का ) और धवन (36 गेंदों पर 52 रन, 7 चौके, 1 छक्का) ने पहले विकेट के लिए 97 रन जोड़े लेकिन मध्यक्रम लड़खड़ाने के बावजूद विराट कोहली (17 गेंदों पर 26), मनीष पांडे (18 गेंदों पर नाबाद 31) और शार्दुल ठाकुर (8 गेंदों पर नाबाद 22) के उपयोगी योगदान से भारत 6 विकेट पर 201 रन बनाने में सफल रहा।

इसके जवाब में श्रीलंका ने पावरप्ले में ही शीर्ष क्रम के 4 विकेट गंवा दिए। धनंजय डिसिल्वा (36 गेंदों पर 57) और एंजेलो मैथ्यूज (20 गेंदों पर 31 रन) ने 5वें विकेट के लिए 68 रन जोड़कर बीच में श्रीलंका की उम्मीद जगाई लेकिन यह साझेदारी टूटने के बाद उसकी टीम 15.5 ओवर में 123 रन पर ढेर हो गई। श्रीलंका ने आखिरी 6 विकेट 29 रन के अंदर गंवाए। भारत की श्रीलंका के खिलाफ टी20 में यह कुल 13वीं जीत है।
भारत की तरफ से नवदीप सैनी सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 28 रन देकर 3 विकेट लिए जबकि शार्दुल ने 19 रन देकर 2 और वाशिंगटन सुंदर ने 37 रन देकर 2 विकेट लिए। भारत ने इससे पहले इंदौर में दूसरा मैच 7 विकेट से जीता था जबकि गुवाहाटी में पहला मैच बारिश के कारण रद्द कर दिया गया था।
जसप्रीत बुमराह (5 रन देकर 1) की अगुवाई में गेंदबाजों ने भी भारत को शानदार शुरुआत दिलाई और जल्द ही श्रीलंका का स्कोर 4 विकेट पर 26 रन कर दिया। बुमराह ने पहले ओवर में धनुष्का गुणतिलका (एक) को पैवेलियन भेजा जबकि उनके साथ गेंदबाजी का आगाज करने वाले शार्दुल ने अविष्का फर्नांडो (9) को आउट किया। ओशादो फर्नांडो (2) रन आउट हो गए जबकि बदलाव के रूप में आए सैनी ने कुसाल परेरा (7) की गिल्लियां बिखेरी।

इसके बाद डिसिल्वा और मैथ्यूज ने जिम्मा संभाला। लगभग 16 महीने बाद अपना पहला टी20 खेलने वाले मैथ्यूज ने वाशिंगटन सुंदर को निशाने पर रखा और उन पर 3 छक्के लगाए लेकिन इसी गेंदबाज की गेंद पर पांडे ने लांग ऑन पर दौड़कर लगाकर उनका शानदार कैच लिया जिससे श्रीलंका की उम्मीदें समाप्त हो गई।

डिसिल्वा ने 31 गेंदों पर अपना दूसरा टी20 अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरते रहे। सैनी ने डिसिल्वा को थडमैन पर कैच कराकर उनकी पारी का अंत किया। उन्होंने 8 चौके और 1 छक्का लगाया।

इससे पहले भारतीय पारी उतार चढ़ाव वाली रही। अच्छी शुरुआत के बाद उसने 12 गेंद और 25 रन के अंदर 4 विकेट गंवा दिए लेकिन पांडे ने कोहली के साथ 42 और शार्दुल के साथ 14 गेंदों पर 37 रन की अटूट साझेदारी की जिससे भारत 200 रन के पार पहुंचने में सफल रहा। श्रीलंका की तरफ से चाइनामैन लक्षण संदाकन सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 35 रन देकर 3 विकेट लिए।
कप्तान लसिथ मलिंगा ने टॉस जीतकर भारत को पहले बल्लेबाजी सौंपी। लगभग 16 महीने बाद इस प्रारूप में वापसी करने वाले मैथ्यूज ने मलिंगा के साथ नई गेंद संभाली। उनके इस ओवर में दासुन शनाका ने सीमा रेखा पर धवन का मुश्किल कैच छोड़ा तो राहुल ने आखिरी दो गेंदों पर दर्शनीय चौके लगाए।

राहुल बेहतरीन लय में थे। उन्होंने मैथ्यूज की जगह गेंद संभालने वाले ऑफ स्पिनर धनंजय डिसिल्वा पर लांग लेग पर भारतीय पारी का पहला छक्का लगाया। पिछले मैच में धवन बेहद धीमा खेले लेकिन आज उन्होंने राहुल के सुर में सुर मिलाया। मलिंगा पर आक्रामक तेवर अपनाने के बाद उन्होंने लाहिरू कुमारा का स्वागत दो चौकों से किया जिससे भारत पावरप्ले के छह ओवरों में 63 रन बनाने में सफल रहा।
धवन ने इसके बाद वाहिंदु हसरंगा पर भी छक्का जमाया और 34वें गेंदों पर अपने करियर का दसवां अर्धशतक पूरा किया लेकिन संदाकन की गेंद पर डीप मिडविकेट पर कैच दे बैठे। पिछले 73 मैचों से बाहर रहने वाले संजू सैमसन (छह) उनकी जगह लेने के लिये उतरे और उन्होंने पहली गेंद पर ही लांग आफ पर छक्का जड़ा लेकिन हसरंगा ने उन्हें अगले ओवर में पगबाधा आउट कर दिया।
राहुल ने भी 34 गेंदों पर अपना 9वां अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके बाद संदाकन की गुगली पर गच्चा खाकर वह स्टंप आउट हो गए। संदाकन ने नए बल्लेबाज श्रेयस अय्यर (चार) को भी पैवेलियन भेजकर कोहली को क्रीज पर उतरने के लिए मजबूर किया।

कोहली ने मैथ्यूज पर छक्का जमाया लेकिन विकेटों के बीच दौड़ में माहिर भारतीय कप्तान दूसरा रन लेने के प्रयास में रन आउट हो गए। कुमारा के इस ओवर में वाशिंगटन सुंदर ने थर्ड मैन पर आसान कैच दिया। शार्दुल ने यहां पर अपने बल्लेबाजी कौशल का परिचय दिया तथा मलिंगा और कुमारा दोनों पर छक्के जड़े। पांडे ने अपनी नाबाद पारी में चार चौके लगाए।



और भी पढ़ें :