7 साल बाद होगा भारतीय और इंग्लैड की महिला क्रिकेट टीमों के बीच टेस्ट मैच, यह कहा दोनों कप्तानों ने

पुनः संशोधित मंगलवार, 15 जून 2021 (21:36 IST)
ब्रिस्टल:भारतीय महिला टीम की कप्तान मिताली राज ने मंगलवार को कहा कि बुधवार से यहां इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रहे एकमात्र टेस्ट से पहले क्रिकेट के लंबे प्रारूप में बेहतर तैयारी के लिए उन्होंने अन्य क्रिकेटरों की सलाह ली।

दुनिया भर में महिला के टेस्ट मैच बेहद कम होते हैं और 38 साल की मिताली ने 12 साल के अपने करियर में अब तक सिर्फ 10 टेस्ट खेले हैं। उन्होंने पिछला टेस्ट 2014 में खेला था।
मिताली ने मैच की पूर्व संध्या पर आनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैंने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और टी20 की तुलना में कम टेस्ट खेले हैं, मैं अधिक टेस्ट मैच खेलना पसंद करती। मैं इस बारे में नहीं सोच रही कि इस प्रारूप के हिसाब से मेरे खेल में सुधार हुआ है या नहीं लेकिन मैंने तैयारी पहले की तरह ही की है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘और संभवत: कई अन्य क्रिकेटरों से बात की, जाने का प्रयास किया कि वे लंबे प्रारूप की तैयारी कैसे करते हैं जिससे मुझे इस टेस्ट मैच की तैयारी में मदद मिली।’’

मिताली ने कहा कि वह नहीं चाहती कि युवा खिलाड़ियों पर अपेक्षाओं को बोझ पड़े और उन्हें सलाह देंगी कि अपने खेल को लुत्फ उठाएं।
कप्तान ने कहा, ‘‘हम उन्हें बताएंगे कि लंबे प्रारूप में कैसे खेला जाता है और स्पष्ट तौर पर जो पदार्पण कर रहा है, आप उस पर अपेक्षाओं और जिम्मेदारियों का दबाव नहीं डालना चाहते।’’

मिताली ने भविष्य में द्विपक्षीय श्रृंखलाओं में तीनों प्रारूपोंके मुकाबले का समर्थन करते हुए कहा कि इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी सरजमीं पर टेस्ट मैच शुरुआत हैं। भारत इस साल आस्ट्रेलिया दौरे पर एक दिन-रात्रि टेस्ट खेलेगा।

मिताली ने कहा कि आधुनिक क्रिकेटर टेस्ट क्रिकेट खेलना चाहते हैं क्योंकि इस प्रारूप में खिलाड़ी के कौशल की परीक्षा होती है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम टी20, वनडे खेलते हैं, क्या पता आगामी वर्षों में शायद विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का भी आयोजन हो, आप कुछ नहीं कह सकते।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए यह सिर्फ शुरुआत है, उम्मीद करते हैं कि द्विपक्षीय श्रृंखलाएं जारी रहेंगी जहां तीनों प्रारूपों के मुकाबले होंगे।’’

मिताली ने कहा कि लाल गेंद से आदी होने के लिए बल्लेबाजों और गेंदबाजों ने अधिक से अधिक सत्र में अभ्यास किया।

उन्होंने कहा, ‘‘हम टेस्ट मैच और श्रृंखला को लेकर उत्सुक हैं। हां, हम पिछली बार 2017 में इंग्लैंड की सरजमीं पर खेले थे। यह टीम के लिए अच्छा अनुभव था और अधिकांश खिलाड़ी उस टीम का हिस्सा थीं, इसलिए उनके पास अनुभव है। साथ ही पहली बार श्रृंखला के लिए अंक होंगे इसलिए स्पष्ट तौर पर यह रोमांचक श्रृंखला होगी और हम इसे लेकर उत्सुक हैं। ’’


भारत-इंग्लैंड महिला टेस्ट: नयी पिच नहीं मिलने से इंग्लैंड की कप्तान निराश

इंग्लैंड की महिला टीम की कप्तान हीथर नाइट ने भारत के खिलाफ यहां उनकी टीम के इकलौते टेस्ट के लिए इस्तेमाल की गयी पिच मिलने पर नाखुशी जताते हुए कहा कि यह आदर्श नहीं है क्योंकि उनकी टीम नयी (बिना इस्तेमाल की हुई) पिच पर खेलना चाहेगी।

बुधवार से शुरू होने वाले मैच के लिए के काउंटी ग्राउंड की पिच का इस्तेमाल पिछले हफ्ते ग्लूस्टरशर टी20 मैच के लिए किया गया था और नाइट ने कहा कि यह ‘ स्पिनरों की मददगार’ पिच भारतीय टीम के लिए फायदेमंद होगी।
नाइट ने चार दिवसीय मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘ मैंने देखी है (पिच), यह एक इस्तेमाल किया हुआ विकेट है , जो मुझे लगता है कि स्पष्ट रूप से आदर्श नहीं है। हम नयी पिच पर खेलना पसंद करेंगे। लेकिन अब जो है उसी पर खेलना है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘आम तौर पर ब्रिस्टल की पिच पर ज्यादा घास नहीं होने के बाद भी खेल के लिए शानदार होता है। यह हालांकि आदर्श पिच की तरह नहीं दिख रही लेकिन जाहिर है हम इस पर भी अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करेंगे।

नाइट ने कहा कि उनकी टीम भारतीय टीम की स्पिन चुनौती से निपटने की तैयारी कर रही है।उन्होंने कहा, ‘‘वे एक अच्छी टीम हैं, उनके पास कुछ शानदार गेंदबाज हैं। मुझे लगता है कि उनके आक्रमण में कई स्पिन गेंदबाज होंगे। हम इसके लिए तैयारी कर रहे हैं।’’(भाषा)



और भी पढ़ें :