ऑलराउंडर भाइयों हार्दिक और क्रुणाल ने कोविड केयर केंद्रों परे भेजे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स

Last Updated: सोमवार, 24 मई 2021 (17:55 IST)
नयी दिल्ली: भारतीय ऑलराउंडर खिलाड़ियों हार्दिक पांड्या और भाई क्रुणाल पांड्या ने कोरोना के इस अभूतपूर्व स्वास्थ्य संकट से निपटने और देश की के खिलाफ लड़ाई में मदद के तौर पर सोमवार को विभिन्न कोविड केयर केंद्रों में की एक और खेप भेजी है।
क्रुणाल ने सोमवार को ट्विटर पर एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, “ सभी कोरोना मरीजों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना के साथ ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स की इस नई खेप को कोविड केयर केंद्रों पर भेजा जा रहा है। ”
हार्दिक ने भी एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा, “ कोरोना के खिलाफ लड़ाई एक साथ काम करने से ही जीती जा सकती है। हम एक मुश्किल लड़ाई लड़ रहे हैं, जिसे हम एक साथ काम करके जीत सकते हैं। ”

उल्लेखनीय है कि मुंबई इंडियंस के स्टार ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या ने इस महीने की शुरुआत में घोषणा की थी कि भाई क्रुणाल सहित उनका पूरा परिवार देश के ग्रामीण हिस्सों में 200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स भेजेगा, ताकि कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में सहायता मिल सके।

गौरतलब है कि क्रुणाल ने इंग्लैड के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में वनडे डेब्यू का सबसे तेज अर्धशतक जड़ा और 31 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ा। क्रुणाल ने 26 गेंदो में 50 रन बनाए इससे पहले जे मोरिस ने साल 1990 में 37 गेंदो में अपने 50 रन पूरे किए थे। क्रुणाल ने 31 गेंदों पर नाबाद 58 रन में सात चौके और दो छक्के लगाए और अंत तक आउट नहीं हुए।

इस पारी के बाद ना केवल बड़ा भाई क्रुणाल बल्कि डगआउट में बैठा छोटा भाई हार्दिक पांड्या भी भावुक हो गया था। गौरतलब है कि जनवरी के पहले माह में ही क्रुणाल और हार्दिक पांड्या के पिताजी हिमांशू पांड्या का दिल का दौरा पड़ने के कारण निधन हो गया था।

यही कारण है कि दोनों जीवन का मूल्य जानते हैं और नहीं चाहते कि की किसी भी परिवार का कोई भी सदस्य अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से दम तोड़े इस कारण दोनों ही सतत इस नेक कार्य में अपना योगदान दे रहे हैं।




और भी पढ़ें :