मीडिया राइट्स नीलामी से BCCI की झोली में आ चुके हैं 39 हजार करोड़ रूपए!

हर मैच से बोर्ड को होगी 57.5 की आमदनी

पुनः संशोधित मंगलवार, 14 जून 2022 (14:06 IST)
हमें फॉलो करें
मुम्बई: 2023 से 2027 तक चलने वाले अगले चक्र के लिए प्राप्त करने के लिए चल रहे ई-ऑक्शन में पहले दो पैकेज की सर्वाधिक बोली का पता चल चुका है। क्रिकइंफ़ो को पता चला है कि भारतीय उपमहाद्वीप में टीवी प्रसारण अधिकार वाले पैकेज ए में सर्वाधिक बोली साढ़े 57 करोड़ रुपये प्रति मैच की है।

भारतीय उपमहाद्वीप में डिजिटल प्रसारण के अधिकार वाले पैकेज बी में सर्वाधिक बोली 48 करोड़ रुपये की लगाई गई।रविवार को शुरू हुए ई-ऑक्शन में पैकेज ए और बी पर एक साथ बोली लगाने की प्रक्रिया शुरू हुई। रविवार को पैकेज ए की अंतिम बोली 57 करोड़ रुपये की थी जबकि पैकेज बी की थी 48 करोड़।

विश्व की सबसे महंगी लीग बन गई है IPL

105 करोड़ 50 लाख रुपये प्रति मैच की संयुक्त राशि ने आईपीएल को विश्व की सबसे महंगी लीगों की सूची में ला खड़ा किया है। टीवी प्रसारण अधिकार वाले पैकेज ए की अंतिम बोली और निर्धारित आधार मूल्य में 17.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। साथ ही डिजिटल प्रसारण वाले पैकेज की रक़म में 45.4 प्रतिशत का इज़ाफ़ा हुआ है। 2018 से 2022 के बीच के पिछले चक्र में एक मैच की क़ीमत 54.23 करोड़ थी और इस चक्र में प्रति मैच की क़ीमत में 94.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

प्रति सीज़न 74 मैचों के आधार पर पांच साल के लिए टीवी प्रसारण अधिकार पैकेज की क़ीमत 21 हज़ार 275 करोड़ रुपये है। डिजिटल प्रसारण पैकेज की क़ीमत (17 हज़ार 760 करोड़ रुपये) जोड़ने पर कुल आंकड़ा 39 हज़ार 35 करोड़ रुपये तक पहुंच जाता है।

यह आंकड़ा पिछले आईपीएल राइट्स चक्र की राशि से 2.39 गुना अधिक है।साल 2018 में

बोर्ड को 16347 करोड़ रूपये मिले थे।टीवी के लिये बेसप्राइस 49 करोड़ रूपये और डिजिटल अधिकारों के लिये 33 करोड़ रूपये थी।

आईपीएल ने पैकेज के विजेताओं के नाम अभी आधिकारिक तौर पर घोषित नहीं किए हैं क्योंकि ऑक्शन की प्रक्रिया जारी है। नियमों के अनुसार आईपीएल के पैकेज ए के विजेता को अधिकार दिया है कि वह पैकेज बी के लिए डायरेक्ट बोली लगा सकता है। यह पता नहीं चल पाया है कि क्या पैकेज ए और पैकेज बी का विजेता एक ही है या फिर टीवी राइट्स का विजेता डिजिटल राइट्स के लिए लड़ना चाहता है या नहीं।

बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा ,‘‘ हम 5.5 अरब डॉलर के करीब पहुंच रहे हैं। डिजिटल अधिकारों के लिये प्रति मैच 50 करोड़ रूपये मिलना बड़ी बात है। नीलामी छह बजे खत्म हुई और हम अभी पैकेज सी पर है जिसमें पांच साल के लिये 98 मैचों के ‘नॉन एक्सक्लूजिव’ डिजिटल अधिकार शामिल हैं। सोमवार को पैकेज डी आयेगा जो विदेशी टीवी और डिजिटल अधिकारों के लिये है।’’



और भी पढ़ें :