भारत ने चौथा टेस्ट 157 रनों से जीता, इंग्लैंड पर सीरीज में ली 2-1 की बढ़त

Last Updated: सोमवार, 6 सितम्बर 2021 (21:42 IST)
लगता है लंदन के लिए भाग्यशाली है। लॉर्ड्स में मिली ऐतिहासिक जीत के बाद भारत को तीसरे टेस्ट में हेडिंग्ले की पारी की हार का कड़वा घूंट पीना पड़ा था लेकिन में चौथे टेस्ट में को हराकर यह साबित हो गया की टीम इंडिया को लंदन काफी भाया है।

चायकाल के बाद भारत के लिए मैच में सिर्फ औपचारिकता ही बची थी। इंग्लैंड के ऑलराउंडर ओवरटन और ओली रॉबिन्सन क्रीज पर थेे लेकिन मेजबान टीम 8 विकेट गंवा चुकी थी और एक पूरा सत्र पड़ा था।

जब लॉर्ड्स में ही इंग्लैंड की टीम 2 सत्र में सिमट गई थी तो फिर अंतिम सत्र में गेंदबाजों से उम्मीदें लगाना बेमानी थी।इंग्लैंड को अंतिम सत्र में जीत के लिए 175 रन जबकि भारत को दो विकेट की दरकार थी।अंतिम सत्र में उमेश ने क्रेग ओवरटन (10) को बोल्ड किया। उमेश की गेंद ओवरटन की कोहनी से टकराकर विकेटों में समा गई।
उमेश ने इसके बाद जेम्स एंडरसन (02) को पंत के हाथों कैच कराके भारत की जीत सुनिश्चित की।
इंग्लैंड ने सुबह के सत्र में 27 ओवर में दो विकेट गंवाकर 54 रन बनाए जबकि दूसरे सत्र में 25.1 ओवर में 62 रन पर छह विकेट गंवाए। उमेश यादव ने 60 रन देकर तीन विकेट,ने 27 रन देकर दो विकेट, ने 22 रन पर दो विकेट और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने 50 रन पर दो विकेट लिए।

सलामी बल्लेबाजों हसीब हमीद (62) और रोरी बर्न्स (50) ने पहले विकेट के लिए 100 रन जोड़े लेकिन इस साझेदारी के टूटने के बाद भारतीय गेंदबाजों का दबदबा देखने को मिला।

जडेजा ने दूसरे सत्र में भारत को शानदार शुरुआत दिलाई जब उन्होंने सत्र के तीसरे ओवर में ही हमीद को बोल्ड कर दिया। हमीद ने लेग स्टंप पर पिच हुई गेंद को छोड़ दिया जिसने टर्न लेते हुए उनका आफ स्टंप उखाड़ दिया। हमीद ने 193 गेंद की अपनी पारी में छह चौके जड़े।

बुमराह इसके बाद तेजी से अंदर आती गेंद पर ओली पोप (02) को बोल्ड करके टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 100 विकेट पूरे करने वाले भारतीय तेज गेंदबाज बने। बुमराह ने अपने 24वें टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल करते हुए पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव को पीछे छोड़ा जिन्होंने 25 टेस्ट में यह आंकड़ा छुआ था।

बुमराह ने अपने अगले ओवर में जॉनी बेयारस्टो (00) भी यॉर्कर पर बोल्ड किया।

अगले ओवर में जडेजा ने मोईन अली (00) को स्थानापन्न खिलाड़ी सूर्यकुमार यादव के हाथों शॉर्ट लेग पर कैच कराके इंग्लैंड का स्कोर दो विकेट पर 141 रन से छह विकेट पर 147 रन किया।

रूट और क्रिस वोक्स ने इसके बाद 12 से अधिक ओवर तक भारतीय गेंदबाजों को सफलता हासिल नहीं करने दी। कोहली ने 80 ओवर के बाद नई गेंद नहीं लेने का फैसला किया और पुरानी गेंद ठाकुर को थमा दी। स्पैल में वापसी कर रहे ठाकुर की पहली गेंद को ही रूट विकेट पर खेल गए। रूट ने 78 गेंद में तीन चौकों की मदद से 36 रन बनाए।

अजिंक्य रहाणे ने बुमराह की गेंद पर क्रेग ओवरटन का कैच टपकाया लेकिन उमेश ने चाय से पहले अंतिम ओवर के लिए स्पैल में वापसी करते हुए पहली ही गेंद पर वोक्स (18) को शॉर्ट मिडविकेट पर लोकेश राहुल के हाथों कैच करा दिया।

इंग्लैंड ने दिन की शुरुआत बिना विकेट खोए 77 रन से की। उमेश यादव और जसप्रीत बुमराह की तेज गेंदबाजी जोड़ी ने भारत के आक्रमण की शुरुआत की। हमीद और बर्न्स ने पहले आधे घंटे में भारतीय गेंदबाजों को सफलता से महरूम रखा। दोनों बल्लेबाजों ने सतर्क होकर बल्लेबाजी की लेकिन खराब गेंद को सबक भी सिखाया।

बर्न्स ने उमेश पर दो चौके जड़े। कप्तान विराट कोहली ने इसके बाद गेंद शार्दुल ठाकुर को थमाई और बर्न्स ने उन पर चौका और फिर दो रन के साथ 124 गेंद में अर्धशतक पूरा किया और साथ ही टीम का स्कोर 100 रन तक पहुंचाया।

बर्न्स हालांकि ठाकुर की अगली गेंद पर विकेटकीपर ऋषभ पंत को कैच देकर पवेलियन लौट गए। उन्होंने 125 गेंद में पांच चौकों की मदद से 50 रन बनाए।

हमीद ने भी रविंद्र जडेजा की गेंद पर तीन रन के साथ 123 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

हमीद 55 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे जबकि जडेजा की गेंद पर मिड आन पर मोहम्मद सिराज ने उनका आसान कैच टपका दिया।

डेविड मलान को हालांकि क्रीज पर जूझना पड़ रहा था और वह अंतत: पांच रन बनाकर रन आउट हो गए। हमीद ने जडेजा की गेंद को कवर में खेला और एक रन के लिए दौड़ पड़े। मलान के क्रीज पर पहुंचने से पहले ही पंत ने मयंक अग्रवाल के सटीक थ्रो पर स्टंप उखाड़ दिए।



और भी पढ़ें :