एक नहीं, कई बार ऑस्ट्रेलिया का टीम इंडिया ने किया है घमंड चूर

Last Updated: मंगलवार, 19 जनवरी 2021 (17:02 IST)
ऑस्ट्रेलिया टीम का विजय रथ रोकने में अगर कोई टीम पारंगत है तो वह है टीम इंडिया। ऐसा एक नहीं कई बार हुआ है जब अविजित सी लगने वाली ऑस्ट्रेलिया को भारत ने हार का स्वाद चखाया है।

कौन भूल सकता है साल 2001 का वह टेस्ट जब भारत को फोलोऑन मिला था। कोलकाता का यह टेस्ट राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण की पारियों ने बदल कर रख दिया था। भारत ने न केवल सीरीज बराबर की बल्कि 171 रनों से हराकर ऑस्ट्रेलिया के
लगातार चल रहे 17 टेस्ट मैच के विजय रथ को भी रोका। इस मैच में हरभजन सिंह ने हैट्रिक ली थी।

सात साल बाद यह कारनामा भारत ने ऑस्ट्रेलिया में ही कर डाला। सिडनी टेस्ट हारने के बाद टीम अंपायरों के फैसले से बहुत गुस्सा थी। यह गुस्सा निकला पर्थ टेस्ट में जहां टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों के कहर के सामने कंगारु कहीं नहीं टिके। भारत यह टेस्ट 72 रनों से जीत गया और 17 टेस्ट मैचों से अविजित चली आ रही ऑस्ट्रेलिया को हरा दिया।
साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया विश्वविजेता बनी और साल 2016 में वह लगातार 16 वनडे घरेलू मैदान पर जीत चुकी थी। सिडनी में भारत ने 331 रनों के लक्ष्य का पीछा करके ऑस्ट्रेलिया को यह मैच 6 विकेट से हराया। इस मैच में मनीष पांडे ने शतक जड़ा था।

आज यह कारनाम भारत ने गाबा में किया , 32 सालों से ऑस्ट्रेलिया टीम इस मैदान पर टेस्ट में अविजित थी। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया इस मैदान पर सिर्फ वेस्टइंडीज से हारी थी। आज भारत ने ऑस्ट्रेलिया के इस गढ़ में भी खुद का विजयी तिलक कर लिया (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :