टी20 विश्व कप के लिए कुंबले का मंत्र, तेज गेंदबाज को मिले तरजीह

पुनः संशोधित मंगलवार, 31 दिसंबर 2019 (00:32 IST)
नई दिल्ली। के पूर्व कप्तान और मुख्य कोच अनिल कुंबले का मानना है कि के लिए भारतीय टीम को विकेट चटकाने वाले विकल्प पर ध्यान देना चाहिए, जहां हरफनमौला खिलाड़ी की जगह तेज गेंदबाज को तरजीह मिलनी चाहिए। अगले साल अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले टी20 विश्व कप की तैयारी के लिए भारतीय टीम आने वाले समय में अधिक टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी।
कुंबले ने ‘क्रिकनेक्स्ट’ से कहा, मैं निश्चित रूप से मानता हूं कि आपको विकेट लेने वाले गेंदबाजों की जरूरत होगी। ऐसे में मेरे मुताबिक, कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल जैसे खिलाड़ियों को टीम में जगह मिलनी चाहिए। आप सवाल उठा सकते हो कि जब ओस की वजह से गेंद गीली हो जाती है तब टीम में कलाई के 2 स्पिनरों का होना क्या सही है?

भारत की ओर से टेस्ट और एकदिवसीय में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, यह काफी जरूरी है कि आप विकेट लेने वाले विकल्प की तलाश करें। टीम हरफनमौला खिलाड़ी को ढूंढ रही है लेकिन आपको ऐसे तेज गेंदबाजों को रखना होगा जो विकेट ले सकें। मुझे लगता है कि ये काफी मुश्किल परिस्थिति है।

कुंबले के मुताबिक यह पहचान करना अहम होगा कि ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियों में कौन-कौन अच्छा कर सकता है। उन्होंने कहा, भारत के लिए यह सोचना काफी अहम होगा कि ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियों में कौन प्रदर्शन करेगा और कौनसे ऐसे गेंदबाज हैं जो विकेट लेने की क्षमता रखते हैं, क्योंकि इसी से विरोधी टीम पर दबाव बनेगा।

अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस पूर्व कप्तान के लिए आईपीएल का प्रदर्शन काफी मायने रखेगा। उन्होंने कहा, यह इस पर निर्भर करेगा कि एमएस (धोनी) आईपीएल में कैसा प्रदर्शन करते हैं और क्या भारतीय टीम को लगता है कि विश्व कप में उनकी सेवाओं की जरूरत होगी। इस तरह वे टीम का हिस्सा हो सकते हैं, लेकिन हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा।

पिछले दिनों भारतीय टीम के मौजूदा कोच रवि शास्त्री ने कहा था कि लोकेश राहुल टी20 विश्व में विकेटकीपिंग में बैकअप की भूमिका निभा सकते है। कुंबले भी ऐसी सोच रखते हैं।

उन्होंने कहा, राहुल ऐसे खिलाड़ी है जिनका भारतीय टीम इस्तेमाल करने की सोच सकती है। वे टी20 में इस भूमिका को निभा सकते हैं। वे अच्छे हैं और उन्‍होंने कर्नाटक के लिए विकेटकीपिंग की है। सीमित ओवरों के प्रारूप में बल्लेबाज के तौर पर उनकी क्षमता के बारे में हमें पता है। हां, वे अच्छा विकल्प हैं।

उन्होंने कहा, भारतीय टीम जिस विकल्प के बारे में भी सोच रही है, मुझे लगता है कि विश्व कप से कम से कम 10-12 मैच पहले उसे पक्का कर लेना चाहिए। कुंबले के मुताबिक, रोहित शर्मा 2019 के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं जिन्होंने हर प्रारूप में रन बनाए और टेस्ट में सलामी बल्लेबाज के तौर पर शानदार प्रदर्शन किया। उनके मुताबिक मयंक अग्रवाल साल के सर्वश्रेष्ठ युवा क्रिकेटर रहे।


और भी पढ़ें :