कोरोना का टी-20 विश्व कप पर भी पड़ सकता है प्रभाव

T20 World Cup trophy
Last Updated: गुरुवार, 26 मार्च 2020 (22:44 IST)
नई दिल्ली। वैश्विक महामारी बन चुके के कारण खेल जगत पर गहरा प्रभाव पड़ा है और ऐसे में इस वर्ष ऑस्ट्रेलिया में होने वाले आईसीसी टी-20 पर भी इसका असर पड़ सकता है।
आईसीसी टी-20 विश्व कप का आयोजन 24 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया में होना है लेकिन कोरोना के कारण इस पर प्रभाव पड़ सकता है। कोरोना वायरस के कारण क्रिकेट सहित विभिन्न खेलों को स्थगित किया गया है और हाल ही में टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों को भी अगले साल तक के लिए स्थगित कर दिया गया था।
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) कोरोना के संकट के बीच टी-20 विश्व कप को लेकर दूसरे विकल्पों पर विचार कर रही है। आईसीसी ने अभी तक विश्व कप को रद्द करने के बारे में विचार नहीं किया है लेकिन अगर इस वर्ष यह टूर्नामेंट नहीं हो पाया तो इसे 2021 में कराया जा सकता है तथा 2021 में भारत में होने वाले टी-20 विश्व कप को अक्टूबर 2022 तक स्थगित किया जा सकता है।

इस बीच क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी केविन रॉबर्ट को उम्मीद है कि टी-20 विश्व कप अपने निर्धारित समय पर ही होगा। लेकिन अगर ऐसा नहीं हो पाता है तो आयोजकों के लिए सबसे बड़ी चुनौती स्टेडियम को लेकर होगी।

ऑस्ट्रेलिया को टी-20 विश्व कप के बाद नवंबर में अफगानिस्तान के खिलाफ एक टेस्ट मैच खेलना है और भारत के खिलाफ चार टेस्ट और तीन वनडे मैच खेलने हैं। अगर आईसीसी टी-20 विश्वकप को स्थगित करता है तो आगे के कार्यक्रम में भी बदलाव करना होगा।

इस वर्ष एक मई से 31 मार्च 2022 तक सुपर लीग होना है जो 2023 विश्व कप का क्वालीफिकेशन भी है। इसमें 13 टीमें हिस्सा लेंगी, जिन्हें दो साल में घर और बाहर 8 सीरीज खेलनी है। प्रायोजकों को यह तय करना है कि इसे रद्द करना है या सीरीज में कटौती करनी है।

हालांकि अभी तक आईसीसी ने इस संबंध में कोई फैसला नहीं लिया है लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि आईसीसी की 8 से 10 मई तक होने वाली बैठक में इस बारे में कोई फैसला लिया जा सकता है।


और भी पढ़ें :