डकवर्थ लुईस नियम से 4 बार की चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया आईसीसी महिला टी20 विश्व कप के फाइनल में

Last Updated: गुरुवार, 5 मार्च 2020 (18:32 IST)
सिडनी। 4 बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया की टीम आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप के फाइनल में पहुंच गई है, जहां 8 मार्च को उसकी टक्कर भारत से होगी। वर्तमान चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया ने आज बारिश से प्रभावित दूसरे सेमीफाइनल में डकवर्थ लुइस नियम के तहत दक्षिण अफ्रीका पर 5 रन से रोमांचक जीत दर्ज की।

भारत और इंग्लैंड के बीच पहले सेमीफाइनल वर्षा से धुल गया था और भारत ने ग्रुप चरण के बेहतर रिकॉर्ड की बदौलत फाइनल में जगह बना ली थी। दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने 20 ओवर में पांच विकेट पर 134 रन बनाए थे लेकिन फिर बारिश के कारण दक्षिण अफ्रीका की पारी में विलंब हो गया।

एक समय ऐसा लग रहा था कि मैच पूरा नहीं हो पाएगा और दक्षिण अफ्रीका बेहतर ग्रुप रिकॉर्ड के कारण फाइनल में पहुंच जाएगा लेकिन बारिश थमी और दक्षिण अफ्रीका को 13 ओवर में 98 रन का संशोधित लक्ष्य दिया गया। दक्षिण अफ्रीका की टीम पांच विकट पर 92 रन ही बना सकी और उसे पांच रन से हार का सामना करना पड़ा। ऑस्ट्रेलिया इसके साथ ही फाइनल में पहुंच गया।

दक्षिण अफ्रीका ने मुकाबले में टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान मेग लैनिंग की 49 रनों की अहम पारी की बदौलत पांच विकेट के नुकसान पर 132 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया। लेनिंग ने 49 गेंदों में चार चौकों और एक छक्के की मदद से महत्वपूर्ण 49 रन बनाए। लेनिंग को प्लेयर ऑफ़ द मैच का पुरस्कार भी मिला।

ओपनर बेथ मूनी 24 गेंदों में चार चौकों के सहारे 28 रन और उनकी जोड़ीदार एलिसा हीली ने 13 गेंदों में चार चौकों की मदद से 18 रन बनाए। रेचेल हेंस ने 18 गेंदों पर 17 रन की महतवपूर्ण पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया के 5 विकेट 103 रन पर गिर गए थे लेकिन हेंस ने निकोला कैरी के साथ छठे विकेट की अविजित साझेदारी में 31 रन जोड़ कर टीम को 134 रन तक पंहुचाया। यह साझेदारी अंत में परिणाम के लिहाज से निर्णायक साबित हुयी। कैरी ने 11 गेंदों में नाबाद सात रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से नादिन डी क्लर्क ने चार ओवरों में 19 रन देकर तीन विकेट झटके।

लक्ष्य का पीछा करते हुए दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत खराब रही और उसके तीन विकेट 24 रन तक गिर गए। लिजेल ली ने 10 गेंदों में दस रन और कप्तान डेन वान निकर्क ने 12 गेंदों में 12 रन बनाए। मिग्नॉन डू प्रेज खाता खोले बिना आउट हुईं।

सुन लुस और लौरा वॉलवार्ट ने चौथे विकेट के लिए 47 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। मेगन शट ने लेकिन जैसे ही लुस को आउट किया दक्षिण अफ्रीका की पारी पर ब्रेक लग गया। क्लो ट्रायन एक रन बनाकर पांचवे विकेट के रूप में 79 के स्कोर पर आउट हुईं।

दक्षिण अफ्रीका को आखिरी ओवर में जीत के लिए 19 रन चाहिए थे लेकिन ट्रायन का विकेट पहली गेंद पर गिर गया। वॉलवार्ट ने दूसरी गेंद पर चौका मारा और तीसरी गेंद पर 2 रन लिए जबकि चौथी गेंद पर उन्हें एक रन मिला। क्लार्क ने पांचवी गेंद पर चौका मारा और आखिरी गेंद पर 2 रन लिए। इसके साथ ही दक्षिण अफ्रीका के हाथों से बाजी निकल गई।

दक्षिण अफ्रीका एक समय समय बारिश के कारण फाइनल में जाता दिखाई दे रहा था लेकिन अंत में वह संशोधित लक्ष्य तक नहीं पहुंच सका।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान लेनिंग ने मैच के बाद कहा, सब कुछ बहुत तनावपूर्ण था। आखिरी ओवर में लग रहा था कि कुछ भी हो जाएगा लेकिन हमें खुशी है कि हम अब फाइनल में पहुंच चुके है और कल हम के लिए रवाना होंगे, जहां भारत के साथ रविवार 8 मार्च को फाइनल खेला जाएगा।


और भी पढ़ें :