शुक्रवार, 19 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. करियर
  3. समाचार
  4. india 80 percent professionals ready to change jobs in 2023 according to the linkedin
Written By
Last Modified: बुधवार, 18 जनवरी 2023 (16:52 IST)

2023 में तेजी से Naukri बदलने की फिराक में पेशेवर, 5 में से 4 लोग ढूंढ रहे नई job, जानिए क्या हैं कारण

2023 में तेजी से Naukri बदलने की फिराक में पेशेवर, 5 में से 4 लोग ढूंढ रहे नई job, जानिए क्या हैं कारण - india 80 percent professionals ready to change jobs in 2023 according to the linkedin
नई दिल्ली। भारत में दिसंबर 2021 की तुलना में दिसम्बर 2022 में नई भर्तियों की रफ़्तार 23 प्रतिशत धीमी रहने के बावजूद चालू वर्ष में 5 में से 4 पेशेवर नौकरी बदलने पर विचार कर रहे हैं। प्रोफेशनल नेटवर्क लिंक्डइन द्वारा जारी ताजा शोध रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। 5 में से 4 प्रोफेशनल्स 80 प्रतिशत वर्ष 2023 में नौकरी बदलने पर विचार कर रहे हैं। 
 
रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय वर्कफोर्स आर्थिक अनिश्चितता के मुकाबले लचीले (रिजिलिएंट) लगते हैं, जैसा कि 5 में से 4 प्रोफेशनल्स 80 प्रतिशत वर्ष 2023 में नौकरी बदलने पर विचार कर रहे हैं। यह सेंटिमेंट मुख्य रूप से जेनरेशन जेड द्वारा प्रेरित है, जिसमें 18 से 24 वर्ष उम्र के 88 प्रतिशत प्रोफेशनल नई नौकरी की तलाश पर विचार रहे हैं। हालांकि 45 से 54 वर्ष उम्र के 64 प्रतिशत लोग ही नौकरी बदलने की चाहत वाले हैं।
 
भविष्‍य में अनिश्चित आर्थिक दौर की आशंका के बावजूद, प्रोफेशनल अपने कौशल में निवेश करके और आगे बढ़ने के लिए सक्रिय रूप से अवसरों की तलाश करते हुए अपने करियर का एक दीर्घकालीन नजरिया अपना रहे हैं। 
 
सर्वेक्षण में शामिल कर्मचारियों में से तीन-चौथाई 78 प्रतिशत ने कहा कि अगर उन्हें नौकरी छोड़नी पड़ी, तो वे आवेदन करने के लिए दूसरी नौकरी की खोज के लिए ज्‍यादा आत्‍मविश्‍वास महसूस करेंगे। जहां तक नौकरी ढूंढने की बात हो तो प्रोफेशनल के प्रोत्‍साहित बने रहने के पीछे अलग-अलग कारण हैं। बढ़ते खर्च का दबाव और आर्थिक सुरक्षा की जरुरत बड़े कारणों में से एक है जो कर्मचारियों को नई नौकरी की तलाश करने के लिए प्रेरित कर रहा है, क्योंकि वे 35 प्रतिशत लोग ज्यादा पैसा चाहते हैं।
 
करीब 33 प्रतिशत अनुपात उन लोगों का भी है जो बेहतर कार्य-जीवन संतुलन ऑफर करने वाली भूमिकाओं में जाना चाहते है। 3 में 1 करीब 32 प्रतिशत ने कहा कि उन्‍हें अपनी क्षमताओं को लेकर ज्यादा आत्‍मविश्‍वास हैं और वे सोचते हैं कि उन्हें एक बेहतर नौकरी मिल सकती है।
 
लिंक्डइन करियर एक्सपर्ट और लिंक्डइन इंडिया की हेड ऑफ़ एडिटोरियल निराजिता बनर्जी ने कहा कि मुश्किल आर्थिक परिस्थितियों के बावजूद, भारतीय वर्कफोर्स अपनी विकास करने और आगे बढ़ने के लिए खुद की क्षमताओं पर भरोसा कर रहा है। 
 
 
महामारी के बाद से यह स्पष्ट है कि प्रोफेशनल ने भरपूर रिजिल्यंस प्राप्त किया है और हम आने वाले साल में इससे निपटने के लिए उनकी प्रतिक्रिया में यह देख रहे हैं। वे आदर्श भूमिका के लिए कोशिश कर रहे हैं, जो सही पारिश्रमिक ऑफर करती हो और जिसमें पर्याप्त वर्क-लाइफ बैलेंस तथा लचीलापन हो। जबकि भविष्य डाइनैमिक बना हुआ है, प्रोफेशनल्स के लिए ट्रान्सफरेबल स्किल्स का निर्माण करते हुए खुद में निवेश करना आवश्यक है, जो उनके प्रोफाइल्स को विभिन्न भूमिकाओं के लिए और ज्यादा बहुमुखी तथा अनुकूलनशील बनाएगा।
 
नौकरी की तलाश करने वालों को सपोर्ट करने के लिए, लिंक्डइन अपने प्लैटफॉर्म पर 30 जनवरी से 3 फरवरी तक अनेक प्रेरक कंटेंट और लाइव वर्कशॉप आयोजित कर रहा है। 
 
इसमें नौकरियों और करियर में सर्वोच्च पदों पर आसीन लोगों से करियर संबंधी व्यावहारिक सलाह और नौकरी खोजने के टिप्स दिए जाएंगे। लिंक्डइन प्रोफेशनल्स को उनके अगले करियर मूव में सपोर्ट करने के लिए मुफ्त लिंक्डइन लर्निंग कोर्सेज भी आरम्भ करने जा रहा है, जिसमें बाज़ार की चिंता के बगैर अपना मनपसंद करियर बनाएँ, नौकरी पाने के लिए एक करियर रणनीतिकार का मार्गदर्शन, मंदी-प्रतिरोधक करियर रणनीतियाँ, मेल रॉबिन्स ऑन कॉन्फिडेंस और माइकल बंगी स्टेनियर के साथ लक्ष्य निर्धारण का एक साहसिक नया दृष्टिकोण जैसे विषय शामिल हैं। वार्ता Edited by Sudhir Sharma
ये भी पढ़ें
Super Meteor 650 : रॉयल एनफील्ड ने लॉन्च की नई क्रूजर बाइक सुपर मीटियोर 650, जानिए साढ़े तीन लाख की बाइक के फीचर्स