उबर दिलाएगी 10 लाख को कौशल प्रशिक्षण, मारुति से करार

पुनः संशोधित गुरुवार, 15 सितम्बर 2016 (16:58 IST)
नई दिल्ली। मोबाइल फोन एप आधारित टैक्सी सुलभ कराने की सेवा का परिचालन करने वाली  इंटरनेट प्लेटफॉर्म कंपनी उबर ने एक नई पहल के तहत 2018 तक 10 लाख लोगों को नए  कौशल सिखाकर उन्हें रोजी-रोटी कमाने में अधिक समर्थ बनाने का बीड़ा उठाया है। कंपनी ने  इसके लिए राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) और ऑटो कंपनी मारुति के साथ  भागीदारी का समझौता किया है।
उबर इंडिया के अध्यक्ष अमित जैन ने कहा कि उबरशान पहल के तहत अकुशल व्यक्तियों को  वाहन चलाने की प्रशिक्षण और हुनर सिखाया जाएगा। ऐसे लोगों को वाणिज्यिक वाहन चलाने  का लाइसेंस दिलवाने, वाहन के लिए कर्ज का प्रबंध करने तथा पट्टे की सुविधा हासिल करने में  भी मदद दी जाएगी।
 
उन्होंने कहा कि इस पहल से तहत वे भारत में उद्यमी लोगों का आधार तेजी बढ़ाने और  2018 तक 10 लाख लोगों के लिए रोजी-रोटी के नए अवसर सृजित करना चाहते हैं। जैन ने  कहा कि राष्ट्रीय कौशल विकास निगम और मारुति सुजुकी के साथ हमारी भागीदारी हमें अपने  इस लक्ष्य को पूरा करने में सहायक होगी। 
 
उबर का कहना है कि इस समय भारत में करीब 4 लाख ड्राइवर उसके मंच से जुड़े हैं। इसके  लिए अमेरिका के बाद यह सबसे बड़ा टैक्सी सेवा बाजार है। (भाषा)



और भी पढ़ें :