रिलायंस इंडस्ट्रीज की प्लास्टिक अपशिष्ट से सड़क बनाने की प्रौद्योगिकी सौंपने की पेशकश

Last Updated: बुधवार, 29 जनवरी 2020 (21:09 IST)
नागोथाने (महाराष्ट्र)। उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएसएआई) को अपनी 'प्लास्टिक अपशिष्ट से सड़क' निर्माण की प्रौद्योगिकी देने की पेशकश की है। इस प्रौद्योगिकी से सड़क निर्माण में प्लास्टिक का इस्तेमाल किया जा सकेगा।
ALSO READ:
बेकार प्लास्टिक से बन रहा है रोज 800 लीटर डीजल
कंपनी ने रायगढ़ जिले स्थित अपने में इस प्रौद्योगिकी का परीक्षण किया है। इसके अलावा वह कई और पायलट परियोजनाओं पर काम कर रही है। कंपनी ने अपने संयंत्र में 50 टन प्लास्टिक अपशिष्ट को कोलतार के साथ मिलाकर करीब 40 किलोमीटर लंबी सड़क बनाई है।
कंपनी के पेट्रोरसायन कारोबार के मुख्य परिचालन अधिकारी विपुल शाह ने कहा कि पैकेटबंद सामानों के खाली पैकेट, पॉलिथीन बैग जैसे प्लास्टिक अपशिष्ट का इस्तेमाल सड़क निर्माण में करने की प्रणाली विकसित करने में हमें करीब 14 से 18 महीने का वक्त लगा। हम इस अनुभव को साझा करने के लिए एनएचएआई के साथ बातचीत कर रहे हैं ताकि सड़क निर्माण में प्लास्टिक अपशिष्ट का उपयोग किया जा सके।


और भी पढ़ें :