शनि ग्रह की पीड़ा से मुक्ति के लिए अद्भुत 5 उपाय

Shani Dev 
आपने पीड़ा से मुक्ति के लिए कई उपाय पढ़ें या करें होंगे लेकिन हम आपको लाल किताब के अनुसार कुछ अद्भुत ही उपाय बता रहे हैं जिन्हें करके आप शनि पीड़ा से मुक्ति हो जाएंगे।
1. अपने घर में शहद रखें और थोड़ा बहुत शहद खाते रहें साथ ही किसी भी शनिवार को मंदिर में शहद का दान करें।

2. अंधे, दिव्यांग, गरीब, विधवा, अबला या सफाईकर्मियों को समयानुसार एक बार भोजन जरूर कराएं।

3. जुआ, सट्टा ना खेलें, शराब ना पीएं। भैरव मंदिर में शराब चढ़ाएं।

4. शमी के पेड़ को शनिवार के दिन जल अर्पित करना या उचित दिशा में कहीं पर भी शमी का वृक्ष लगाना।
5. पिता और पुत्र का कभी अनादर ना करें। आंख, दांत और आंत हमेशा साफ और मजबूत बनाए रखें।

शनि के रत्न : शनि के लिए अक्सर नीलम रत्न को पहने की सलाह दी जाती है। नीलम की ही तरह एक रत्न है लाजवर्त, कुछ लोग इसे नीलम समझकर पहनने हैं। नीलम के दो उपरत्न है, लीलिया, जमुनिया, नीली, नीला टोपाज, लाजवर्त, सोडालाइट, तंजनाईट आदि।। नीलम के प्रकार- 1. जलनील, 2. इन्द्रनील। शनि ग्रह के लिए तीन तरह की अंगूठी होती है, पहला नीलम की अंगूठी, दूसरा लोहे की अंगूठी और तीसरा घोड़े के नाल की अंगूठी। लोहे के छल्ले या अंगुठी को शनि का छल्ला कहा जाता है। नीलमणि : यह नीलम की ही तरह होती है।



और भी पढ़ें :