WhatsApp को लेकर CERT-India का अलर्ट, सुरक्षित नहीं है आपका डेटा, सामने आई बड़ी कमियां

Last Updated: शनिवार, 17 अप्रैल 2021 (17:42 IST)
नई दिल्ली। हाल ही में सामने आई जानकारी के अनुसार पर यूजर्स की पर्सनल जानकारी लीक होने का खतरा बढ़ गया है। देश की साइबर सुरक्षा एजेंसी सीईआरटी-इन CERT-India ने सोशल मैसेजिंग के लोकप्रिय ऐप वाट्सऐप में कुछ कमजोरियों का पता लगाया है और यूजर्स को किया है कि इनके कारण संवेदनशील सूचनाएं लीक हो सकती हैं।
ALSO READ:
सावधान! Corona Vaccine संक्रमण से नहीं बचाती, लेकिन...
इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रेस्पांस टीम (CERT-India) द्वारा जारी ‘अति गंभीर’ कटेगरी की एडवाइस में कहा गया है कि ‘एंड्रॉयड के लिए WhatsApp और WhatsApp बिजनेस के वर्जन 2.21.4.18 से पहले और आईओएस के लिए वाट्सऐप और वाट्सऐप बिजनेस के वर्जन v2.21.32 से पहले के’ सॉफ्टवेयर में कमजोरियां सामने आई हैं। CERT-India साइबर अटैक का मुकाबला करने और भारतीय साइबर स्पेस की रखवाली करने वाली नेशनल टेक्नोलॉजी टीम है।

सीईआरटी-इंडिया देश में साइबर अटैक के खिलाफ सुरक्षा और भारत के साइबर स्पेस की रक्षा की जिम्मेदारी उठाने वाली तकनीकी शाखा है। शनिवार को जारी परामर्श में कहा गया है कि WhatsApp एप्लीकेशंस में कई कमजोरियां सामने आयी हैं जिनके कारण दूर बैठा हैकर/हमलावर अपनी मर्जी का कोड लिखकर उसका उपयोग कर सकता है और किसी भी सिस्टम/कंप्यूटर में मौजूद संवेदनशील डेटा हासिल कर सकता है।

करें यह काम : खतरे को विस्तार से बताते हुए, परामर्श में कहा गया है कि WhatsApp में ये कमजोरियां कैशे कंफिग्रेशन के मुद्दे और ऑडियो डिकोड करने के रास्ते में जांच की कमी के कारण हैं। परामर्श में कहा गया है कि यूजर गूगल प्ले स्टोर से या आईओएस स्टोर से अपने WhatsApp को तुरंत अपडेट करें ताकि इन कमजोरियों को दूर किया जा सके और किसी भी आसन्न खतरे से बचा जा सके।
कुछ यूजर्स ने WhatsApp पर अप्रत्याशित रूप से बैन होने की सूचना दी है। यूजर्स ने रिपोर्ट की है कि ऐप को एक्सेस करने की कोशिश करने पर उन्हें उनके अकाउंट से लॉगआउट कर दिया गया। ऐसा क्यों किया जा रहा है फिलहाल इसकी वजह सामने नहीं आई है। हालांकि यूजर कंपनी को एक मेल भेज सकते हैं। यदि उन्हें लगता है कि वे कंपनी द्वारा गलत तरीके से बैन हैं। (इनपुट एजेंसी)



और भी पढ़ें :