सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियन्स को रोचक मैच में 3 रनों से हराया

Last Updated: मंगलवार, 17 मई 2022 (23:55 IST)
हमें फॉलो करें
राहुल त्रिपाठी (76), प्रियम गर्ग (42) और निकोलस पूरन (38) की बेहतरीन पारियों और तेज गेंदबाज उमरान मलिक (22 रन पर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी से ने मुम्बई इंडियंस को आईपीएल मुकाबले में मंगलवार को मात्र तीन रन से हराकर अपनी उम्मीदें कायम रखीं।

टॉस हारने के बाद हैदराबाद ने 20 ओवर में छह विकेट पर 193 रन का मजबूत स्कोर बनाया और फिर मुम्बई को 20 ओवर में सात विकेट पर 190 रन पर रोक दिया। हैदराबाद की 13 मैचों में यह छठी जीत है और उसके 12 अंक हो गए हैं। हैदराबाद का एक मैच बचा है। प्लेऑफ की उम्मीदों के लिए हैदराबाद को अपना अंतिम मैच जीतना होगा और दूसरी टीमों के परिणाम पर भी नजर रखनी होंगी।

रोहित और ईशान किशन ने मुम्बई को 10.4 ओवर में 95 रन की शानदार शुरुआत दी। आक्रामक अंदाज में खेल रहे रोहित आखिर एक बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में ऑफ स्पिनर वाशिंगटन सुन्दर की गेंद पर स्थानापन्न खिलाड़ी के हाथों लपके गए। रोहित ने 36 गेंदों पर 48 रन में दो चौके और चार छक्के लगाए। मुम्बई अभी इस झटके से उबर भी नहीं पायी थी कि जमे हुए बल्लेबाज ईशान किशन तेज गेंदबाज उमरान मलिक की गेंद पर प्रियम गर्ग के हाथों लपके गए। किशन ने 34 गेंदों पर 43 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

मलिक ने अपनी गति से तिलक वर्मा को छकाया। तिलक गेंद को ऊंचा खेल गए और विलियम्सन ने आसान कैच लपक लिया। तिलक ने आठ रन बनाये और मुम्बई ने तीसरा विकेट 123 के स्कोर पर गंवाया। मलिक ने डेनियल सैम्स को भी अपना शिकार बनाया। सैम्स 11 गेंदों में 15 रन बनाकर चौथे बल्लेबाज के रूप में 127 के स्कोर पर आउट हुए। मलिक का यह पारी का तीसरा विकेट था।

टिम डेविड ने आने के साथ ही दो चौके लगाए।अब मुम्बई को आखिरी चार ओवर में 54 रन की जरूरत थी। ट्रिस्टन स्टब्स दो रन बनाकर नॉन स्ट्राइकर छोर पर रन आउट हो गए। मुम्बई को आखिरी तीन ओवर में चाहिए थे 45 रन। डेविड ने टी नटराजन के अगले ओवर में चार छक्के मारे। लेकिन आखिरी गेंद पर सिंगल चुराने की कोशिश में डेविड रन आउट हो गए। मुम्बई का छठा विकेट 175 के स्कोर पर गिरा।

डेविड ने 18 गेंदों पर 46 रन में तीन चौके और चार छक्के मारे। डेविड का आउट होना मुंबई के लिए यह बड़ा झटका था। संजय यादव भुवनेश्वर कुमार के अगले ओवर में खाता खोले बिना आउट हो गए। भुवनेश्वर ने यह ओवर मैडन डाला और एक विकेट निकाला।अंतिम ओवर में रमनदीप सिंह ने एक चौका और एक छक्का मारा लेकिन टीम तीन रन से दूर रह गयी। रमनदीप 14 रन पर नाबाद रहे।

इससे पहले हैदराबाद की शुरुआत तो ख़राब हुई थी, लेकिन उसे युवा प्रियम गर्ग और राहुल त्रिपाठी ने संभाला। दोनों ने बेहतरीन पारियां खेली और बाद में निकोलस पूरन ने भी हाथ खोले। जिस तरह से ये तीनों खिलाड़ी खेल रहे थे 200 का स्कोर संभव लग रहा था। लेकिन मुंबई के गेंदबाज़ों ख़ासकर रमनदीप सिंह ने अच्छी गेंदबाज़ी की और उन्हें 193 पर ही रोक दिया। प्रियम गर्ग ने कहा कि उनकी टीम 10 से 15 रन कम रह गई। हालांकि उनका मानना है कि इस धीमी होती विकेट पर यह अच्छा स्कोर है।

राहुल ने 44 गेंदों में नौ चौके और तीन छक्के उड़ाते हुए 76 रन ठोके जबकि गर्ग ने 26 गेंदों पर 42 रन में चार चौके और दो छक्के तथा पूरन ने 22 गेंदों पर 38 रन में दो चौके और तीन छक्के लगाए। मुम्बई की तरफ से रमनदीप सिंह ने मात्र 20 रन देकर तीन विकेट झटके।

इस जीत के साथ सनराइज़र्स ने अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है। हालांकि उन्हें दूसरे मैचों के परिणाम पर भी निर्भर रहना होगा। आज मुंबई को सही शुरुआत तो मिली थी, लेकिन वे उसे बरकरार नहीं रख पाए।(वार्ता)



और भी पढ़ें :