शुक्रवार, 12 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. खेल-संसार
  2. आईपीएल 2022
  3. आईपीएल 2022 न्यूज़
  4. Ravi Shastri feels IPL and World cup should be the only way forward for T20 Cricket
Written By
Last Modified: बुधवार, 1 जून 2022 (19:00 IST)

क्रिकेट फैंस की बोरियत को दूर करने के लिए दूसरी बार होगा IPL, अगर आकाश चोपड़ा की सलाह मानी गई

'IPL जैसी फ्रैंचाइजी क्रिकेट और विश्वकप ही हो टी-20 क्रिकेट में', रवि शास्त्री ने दे डाली सलाह

क्रिकेट फैंस की बोरियत को दूर करने के लिए दूसरी बार होगा IPL, अगर आकाश चोपड़ा की सलाह मानी गई - Ravi Shastri feels IPL and World cup should be the only way forward for T20 Cricket
मुम्बई: जून महीने में अगले पांच वर्षों के लिए आईपीएल के मीडिया और प्रसारण अधिकार के लिए बोली लगने वाली है। क्या आईपीएल अधिक मैचों और अधिक मैच के दिनों के साथ और भी बड़ा हो सकता है? यह संभावनाओं से परे नहीं है। हालांकि इससे अंतर्राष्ट्रीय कैलेंडर के और सीमित हो जाने की संभावना है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री मानते हैं कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर टी20 क्रिकेट को सिर्फ़ विश्व कप के दौरान ही खेला जाना चाहिए।

क्रिकइंफ़ो के रनऑर्डर कार्यक्रम के दौरान शास्त्री ने कहा, 'हां, बिल्कुल। टी20 क्रिकेट में बहुत अधिक द्विपक्षीय सीरीज़ खेली जा रही हैं। जब मैं भारतीय टीम का कोच था उस दौरान भी मैंने यह बात कही थी। मैं इसे अपनी नज़रों के सामने घटित होता देख सकता हूं। यह फ़ुटबॉल की तरह हो सकता है, जब टी20 क्रिकेट सिर्फ़ विश्व कप के दौरान खेला जाए। द्विपक्षीय श्रृंखलाओं को भला कौन याद रखता है?'

शास्त्री ने आगे कहा, 'मुझे विश्व कप को छोड़कर, भारत के कोच के रूप में पिछले छह-सात वर्षों में एक भी खेल याद नहीं है। जो टीम विश्व कप जीतती है, वे इसे याद रखेंगे। दुर्भाग्य से, हम नहीं जीत पाए इसलिए मुझे वह भी याद नहीं है। मैं क्या कहना चाह रहा हूं? आप दुनिया भर में फ़्रैंचाइज़ी क्रिकेट खेलते हैं, प्रत्येक देश को अपना फ्रैंचाइज़ी क्रिकेट रखने की अनुमति है, जो कि उनका घरेलू क्रिकेट है, और फिर हर दो साल में, आप आएं और वर्ल्ड कप खेलें।'

आईपीएल 2022 की समाप्ति के बाद रविवार रात को आईपीएल के भविष्य को लेकर चर्चा हो रही थी, जिसमें भाग लेते हुए डेनियल वेटोरी, इयन बिशप और आकाश चोपड़ा ने इस पर सहमति जताई कि आईपीएल को और बड़ा होना चाहिए। क्या हर साल दो बार इसका आयोजन किया जा सकता है? क्या यह दुनिया भर के कुछ अन्य खेल लीगों की तर्ज पर छह महीने की लीग बन सकती है? शायद। क्या यह द्विपक्षीय टी20 क्रिकेट को बेमानी बना देगा? संभवतः।

हर साल आईपीएल के दौरान कुछ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला जाता है, लेकिन इन श्रृंखलाओं में शामिल बोर्ड और आईपीएल सौदों वाले उनके खिलाड़ियों के बीच लगभग हमेशा संघर्ष होता है। समझौता आमतौर पर खिलाड़ियों या बोर्ड या आईपीएल फ़्रैंचाइज़ी के की संतुष्टि के लिए नहीं किया जाता है, जिनकी योजना उनके खिलाड़ियों के पूरे बैंक के आसपास तैयार की जाती है।

आकाश चोपड़ा ने की एक साल में दो आईपीएल सत्र की मांग

आकाश चोपड़ा ने कहा, ''मुझे वास्तव में लगता है कि हर वर्ष आईपीएल के दो सीज़न हो सकते हैं और हम ऐसा होने से ज़्यादा दूर नहीं खड़े हैं।''शास्त्री ने चोपड़ा से सहमति जताते हुए कहा, ''यही भविष्य भी है। 140 मैच खेले जा सकते हैं, जिन्हें 70-70 मुक़ाबलों में विभाजित किया जाए। आप सोच सकते हैं कि यह ओवरडोज़ है लेकिन भारत में कुछ भी ओवरडोज़ नहीं है। मैं बबल के बाहर बैठा हूं, मैं लोगों को देख रहा हूं कि आख़िर कैसे उन्होंने पिछले दो महीनों की समीक्षा की है।''

बिशप ने कहा, ''ऐसा हो सकता है। आप अमेरिकी खेल के बारे में बात करते हैं, मुझे पता है कि डैन (वेटोरी) बेसबॉल देखते हैं, मैं एनबीए बास्केटबॉल देखता हूं। प्रत्येक टीम हर सीज़न में 70 मैच खेलती है। बीच में एक ऑल स्टार ब्रेक होता है और उन्हें एक हफ़्ते का आराम मिलता है। यह वास्तव में फ़ैला हुआ है।''

खिलाड़ी की उपलब्धता और सहायक कर्मचारियों के विषय पर, जो अमूमन वर्ष के गैर-आईपीएल भाग के लिए अन्य कार्यक्रमों के लिए साइन अप करते हैं, विटोरी ने कहा, ''इसे आसानी से पारिश्रमिक और एक अन्य विंडो के साथ हल किया जा सकता है, जिसे बीसीसीआई के पास हल करने की शक्ति है।''
ये भी पढ़ें
लगातार हार से परेशान होकर बांग्लादेश टेस्ट कप्तान ने दिया इस्तीफा