IPL 2021:पहले दिन से ही गेंद बल्ले पर भारी, इन 4 गेंदबाजों ने ढाया कहर

Last Updated: शनिवार, 17 अप्रैल 2021 (18:30 IST)
आईपीएल अधिकतर चौकों और छक्कों की बरसात के लिए जाना जाता है। बल्लेबाज अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के कारण 200 रनों तक का लक्ष्य पार कर जाते हैं। लेकिन एक हफ्ते से ज्यादा का समय बीत गया है और इस बार आईपीएल में 200 रनों का स्कोर सिर्फ 1 मैच में दिख पाया है।

इस ही बात से यह अंदाजा लगाया जा सकता कि आईपीएल सीजन 2021 में गेंद बल्ले पर कितना हावी हो रही है। वैसे यह बदलाव भी देखने में अच्छा लग रहा है। हमेशा बल्ला ही गेंद पर हावी रहता है। क्रिकेट के ज्यादातर नियम वैसे भी बल्लेबाज के पक्ष में ज्यादा हैं। टी-20 क्रिकेट में टेस्ट जैसी फील्डिंग तक देखने को मिली है।

इसका कारण है चेन्नई की धीमी होती हुई पिच, चेन्नई के चेपॉक में पिच लगातार धीमी होती जा रही है। 150 रन के पास पहुंच कर टीमों का मध्यक्रम लड़खड़ा रहा है। अभी गर्मी और तेज पड़ने वाली है तो पिच में और बदलाव दिखने की संभावना है। वहीं मुंबई की पिच पर भी कल पंजाब जैसी टीम 106 रन ही बना पायी।

बहरहाल के पहले दिन से ही इन गेंदबाजों ने अपना जलवा दिखाना शुरु कर दिया था। नजर डाल लेते हैं इनके प्रदर्शन पर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु के ने मुंबई इंडियन्स के खिलाफ लिए 5 विकेट
मुंबई इंडियन्स को बड़ा स्कोर करने से रोकने वाले इस हरियाणा के गेंदबाज ने रिकॉर्ड्स पर रिकॉर्ड्स बनाए। वह ऐसे पहले गेंदबाज बने जिन्होंने आईपीएल के पहले मैच में 5 विकेट लिए।
बेंगलुरु की तरफ से मध्यम तेज गेंदबाज हर्षल पटेल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 ओवर में मात्र 27 रन देकर पांच विकेट झटके। पटेल ने पारी के आखिरी और 20वें ओवर में पहली चार गेंदों पर तीन बल्लेबाजों को आउट किया।अंतिम ओवर में उन्होंने सिर्फ 1 रन दिया।

बल्लेबाजी में भी उन्होंने आखिरी ओवर में आकर यह सुनिश्चित किया कि सुपर ओवर की नौबत ना आए और यह मैच आरसीबी जीत जाए। हर्षल पटेल के तीन गेंदों पर नाबाद चार रनों की बदौलत आरसीबी ने अंतिम गेंद पर यह मैच जीत लिया। उन्होंने मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार दिया गया।

कोलकाता नाइट राइडर्स के ने मुंबई इंडियन्स के खिलाफ लिए 5 विकेट

आंद्रे रसेल को कप्तान इयॉन मॉर्गन ने आखिर में गेंदबाजी सौंपी जब मुंबई इंडियन्स 5 विकेट गंवा चुका था और धीरे धीरे रन बनाने की कोशिश उसके बल्लेबाज जारी रख रहे थे। कप्तान इयॉन मॉर्गन
ने तो उनके ओवर पूरी करवाने और थोड़ी गेंदबाजी के अभ्यास के लिए हाथ में गेंद सौंपी थी और वह तो लगातार विकेट झटक रहे थे।
रसेल ने पहला विकेट अपने वेस्टइंडीज के साथी कीरन पोलार्ड का लिया। उनका कैच दिनेश कार्तिक ने विकेट के पीछे लपका। इसके बाद क्रुणाल पांड्या को एक गेंद में फंसा कर पीछे प्रसिद्ध कृष्णा के हाथों कैच करवाया।

अंतिम ओवर में आंद्रे रसेल ने 3 विकेट झटके। जसप्रीत बुमराह माक्रो जेन्सन और राहुल चहर को चलता कर उन्होंने मुंबई इंडियन्स को ऑल ऑउट की शर्मिंदगी दे दी। आंद्रे रसेल ने सिर्फ 2 ओवर में 15 रन देकर 5 विकेट लिए।

मुंबई इंडियन्स के ने कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ लिए 4 विकेट

राहुल चाहर ने शुभमन को आउट कर पहले विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी को तोड़ा। चाहर ने इसके बाद विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक के हाथों राहुल त्रिपाठी (05) को कैच कराया। उन्होंने मोर्गन (07) को आउट कर तीसरी सफलता हासिल की।

उन्होंने अगले ओवर में राणा को स्टंप्स कराकर मुंबई की उम्मीदों को जीवंत कर दिया। राणा ने 47 गेंद की पारी में दो छक्के और चार चौके लगाये।राहुल चाहर ने 4 ओवर में 27 रन देकर 4 विकेट लिए और मुंबई को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार मिला।

चेन्नई सुपर किंग्स के ने पंजाब किंग्स के खिलाफ लिए 4 विकेट

किसी ने नहीं सोचा था कि खतरनाक बल्लेबाजों से सजी पंजाब किंग्स 20 ओवरों में सिर्फ 106 रन ही बना पाएगी यह मुमकिन हुआ वानखेड़े स्टेडियम में की गई दीपक चाहर की स्विंग गेंदबाजी से।
दीपक चाहर ने पहले ही ओवर में पंजाब को बड़ा झटका देकर मयंक अग्रवाल को बेल्ड कर दिया। इसके बाद यूनिवर्सल बॉस क्रिस गेल का एक शानदार कैच जड़ेजा ने चाहर की गेंद पर लिया। इसके बार निकोलस पूरन भी अपना खाता नहीं खोल सके। चाहर ने पिछले मैच में विस्फोटक पारी खेलने वाले हुड्डा को भी सस्ते में निपटाद दिया। चाहर के चारों विकेट पंजाब किंग्स के टॉप ऑर्डर के थे जिससे पंजाब किंग्स की बल्लेबाजी की रीढ़ टूट गई।
यह उनके आईपीएल करियर का सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। दिलचस्प बात यह है कि 4 ओवर के स्पैल में उन्होंने 18 गेंदो में कोई रन ही नहीं दिया और 13 रन देकर 4 विकेट लिए। इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार दिया गया।
(वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :