IPL-13 : आईपीएल जीतने का 'विराट सपना' लेकर उतरेंगे कोहली

Last Updated: सोमवार, 21 सितम्बर 2020 (18:47 IST)
File Photo
दुबई। भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) दुनिया के बेहतरीन कप्तानों में से एक माने जाते हैं लेकिन वह अभी तक (IPL) में अपनी कप्तानी में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (Royal Challengers Bangalore) को एक बार भी चैंपियन नहीं बना पाए हैं।
'रन मशीन' विराट आईपीएल के सबसे सफल बल्लेबाज हैं और उनके नाम इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड है लेकिन उनके नाम एक भी आईपीएल ट्रॉफी नहीं है। विराट की बेंगलुरु टीम विदेशी जमीन पर हो रहे (IPL-13) में अपने अभियान की शुरुआत विस्फोटक बल्लेबाज डेविड वॉर्नर (David warner) की कप्तानी वाली (Sunrisers Hyderabad) के खिलाफ सोमवार को होने वाले मुकाबले से करेगी।
विराट का बेंगलुरु के कप्तान के रूप में यह आठवां सत्र है। विराट ने आईपीएल में 177 मैचों में 37.84 के औसत और 131.61 के स्ट्राइक रेट से 5412 रन बनाए हैं जो आईपीएल में सर्वाधिक हैं जबकि सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर ने 126 मैचों में 4706 रन बनाए हैं। दोनों ही शीर्ष क्रम के बेहतरीन बल्लेबाजी हैं और उनका प्रदर्शन ही हार-जीत का फैसला करेगा।
पिछले तीन सत्रों में बेंगलुरु की टीम आठवें, छठे और आठवें स्थान पर रही है लेकिन विराट इस सत्र में विजयी शुरुआत करना चाहेंगे ताकि टीम का मनोबल शुरुआत से ही ऊंचा रहे। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर आईपीएल में विराट की कप्तानी पर सवाल उठा चुके हैं और उनका कहना है कि यदि विराट की जगह कोई दूसरा कप्तान होता तो उसे कबका कप्तानी से हटा दिया गया होता।
विराट कोरोना के कारण लम्बे ब्रेक के बाद आईपीएल में उतर रहे हैं और उन पर लगातार अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का दबाव भी नहीं है लेकिन उन्हें अपनी टीम के संतुलन को बनाना होगा, जिससे टीम विजय पथ पर आगे बढ़ सके।

विराट की खिताब की उम्मीदों को परवान चढ़ाने में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व खिलाड़ी एबी डिविलियर्स की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। डिविलियर्स अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं और पिछले वर्ष विश्व कप से पहले उन्होंने वापसी की इच्छा भी जताई थी। आईपीएल उन्हें अपनी टीम में लौटने का एक मौका प्रदान कर सकता है क्योंकि अगले वर्ष भारतीय जमीन पर टी-20 विश्व कप होना है। डिविलियर्स को अपनी विध्वंसक बल्लेबाजी का लगातार प्रदर्शन करना होगा जिससे टीम जीत की लय को लगातार कायम रख सके।
बेंगलुरु के पास विराट और डिविलियर्स के अलावा ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच, मोईन अली, युजवेंद्र चहल, क्रिस मौरिस, देवदत्त पडिकल, उमेश यादव और नवदीप सैनी के रूप में कई अच्छे खिलाड़ी हैं, जो टीम की सफलता में योगदान दे सकते हैं। फिंच तो इंग्लैंड से वनडे सीरीज जीतकर आईपीएल में उतर रहे हैं। पडिकल का 2019-20 घरेलू सत्र में शानदार प्रदर्शन रहा था और सीमित ओवर के दोनों फॉर्मेट में वह शीर्ष स्कोरर रहे थे।
वॉर्नर का इंग्लैंड में प्रदर्शन उम्मीदों के अनुरूप नहीं रहा था लेकिन आईपीएल उन्हें हमेशा रास आता है जहां वह ढेरों रन बनाते हैं। हैदराबाद की बल्लेबाजी वॉर्नर के अलावा इंग्लैंड के जानी बेयरस्टो और मनीष पांडेय पर काफी निर्भर करेगी। बेयरस्टो भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज खेलकर आईपीएल में उतर रहे हैं।

हैदराबाद टीम में अफगानिस्तान के दो खिलाड़ी मोहम्मद नबी और दुनिया के बेहतरीन लेग स्पिनर राशिद खान मौजूद हैं। टीम की तेज गेंदबाजी का दारोमदार भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद और सिद्धार्थ कॉल पर निर्भर करेगा।



और भी पढ़ें :