IPL-13 में पहला शतक ठोंकने वाले KL Rahul नर्वस थे RCB के खिलाफ मैच से पहले

Last Updated: शुक्रवार, 25 सितम्बर 2020 (01:39 IST)
File Photo: KL Rahul
दुबई। (KL Rahul)
ने इंडियन प्रीमियर लीग (2020) में भारतीय खिलाड़ियों में सर्वोच्च स्कोर का रिकॉर्ड बनाया लेकिन किंग्स (Kings XI Punjab) के कप्तान ने गुरुवार को यहां कहा कि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (RCB) के खिलाफ मैच से पहले वह अपनी बल्लेबाजी को लेकर बहुत आश्वस्त नहीं थे।
राहुल ने नाबाद 132 रन ठोंके, जिससे किंग्स इलेवन ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर 3 विकेट पर 206 रन बनाए और फिर आरसीबी की टीम को 17 ओवर में 109 रन पर आउट करके 97 रन से बड़ी जीत दर्ज की। राहुल ने हालांकि जीत का श्रेय पूरी टीम को दिया।
ALSO READ:
: 'विराट के वीर' बुरी तरह फ्लॉप, पंजाब के 'शेरों' ने 97 रनों से जीता IPL मैच
अपनी शानदार पारी के लिए 'मैन आफ द मैच' बने राहुल ने कहा, ‘यह टीम के लिहाज से संपूर्ण प्रदर्शन था इसलिए खुश हूं। असल में मैं अपनी बल्लेबाजी को लेकर आश्वस्त नहीं था। कल मेरी मैक्सी (ग्लेन मैक्सवेल) से बात हुई थी और मैंने कहा था कि मुझे अपनी बल्लेबाजी पर पूरा नियंत्रण नहीं लग रहा है। उन्होंने कहा कि तुम मजाक कर रहे हो। तुम बहुत अच्छी तरह से हिट कर रहे हो।’
उन्होंने कहा, ‘शुरू में मैं थोड़ा नर्वस था लेकिन मैं जानता था कि कुछ गेंदें खेलने के बाद मैं लय हासिल कर लूंगा। कप्तान होने के बावजूद मैं पुराना रूटीन ही अपनाता हूं। तक मैं खुद को खिलाड़ी ही समझना चाहता हूं कप्तान नहीं। मैं खिलाड़ी और कप्तान के बीच संतुलन बनाने की कोशिश करता हूं।’
राहुल ने अपने गेंदबाजों विशेषकर युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई की प्रशंसा की। उन्होंने कहा, ‘मैंने उन्हें अंडर-19 विश्व कप में देखा है। वह हार नहीं मानते और जब भी उन्हें गेंद दो तैयार रहते हैं। वह एरोन फिंच और एबी डी'विलियर्स को गेंदबाजी करने को लेकर थोड़ा नर्वस थे लेकिन उन्होंने जज्बा दिखाया।’
ALSO READ:
: दिल्ली कैपिटल्स ने 'सुपर ओवर' में किंग्स इलेवन पंजाब को 2 विकेट से हराया
राहुल के 2 कैच टपकाने वाले आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने माना कि उनकी यह गलती टीम पर भारी पड़ी क्योंकि इससे उन्हें 35-40 रन का नुकसान हुआ।
कोहली ने कहा, ‘बीच के ओवरों में हमने अच्छी गेंदबाजी की। उन्होंने अच्छी शुरुआत की थी और हमने अच्छी वापसी की। मैं इसकी जिम्मेदारी लेता हूं। मेरे लिए आज का दिन अच्छा नहीं रहा। अगर हम उन्हें 180 रन पर रोक लेते तो हम पर पहली गेंद से ही दबाव नहीं होता।’
उन्होंने कहा, ‘क्रिकेट मैदान पर कभी ऐसा हो जाता है और हमें इसे स्वीकार करना होगा। हमने एक अच्छा मैच खेला और एक बुरा। अब हमें गलतियों से सबक लेकर आगे बढ़ना होगा।’



और भी पढ़ें :