IPL 2020 : हम किसी टीम को हल्के में नहीं ले सकते : अमित मिश्रा

पुनः संशोधित सोमवार, 28 सितम्बर 2020 (22:01 IST)
अबुधाबी। (Delhi Capitals) के अनुभवी लेग स्पिनर अमित मिश्रा (Amit Mishra) ने सोमवार को कहा कि उनकी टीम टूर्नामेंट की किसी भी अन्य टीम को हल्के में नहीं लेगी। दिल्ली को अपना अगला मुकाबला (Sunrisers Hyderabad) के साथ मंगलवार को खेलना है।
मिश्रा आईपीएल में सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज हैं। उन्होंने चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ पिछले मुकाबले में चार ओवर में 23 रन दिए थे लेकिन विकेट नहीं ले सके थे। सनराइजर्स हैदराबाद के लगातार दो मैच में हारने पर उन्होंने कहा, पहले दो मुकाबले हारने से टीम पर दबाव होता है।

हालांकि अभी टूर्नामेंट की शुरुआत है और इस बारे में ज्यादा विचार करने की जरुरत नहीं है। लेकिन हम ड्रेसिंग रुम में इस बारे में चर्चा नहीं करते हैं। हमारा ध्यान सिर्फ अपने खेल पर केंद्रित है। हमारी लय अच्छी है और टीम का मनोबल भी बढ़ा हुआ है।

हम अगले मुकाबले के लिए तैयार हैं तथा किसी टीम को हल्के में नहीं ले सकते हैं।केन विलियम्सन के हैदराबाद टीम में शामिल होने पर 37 वर्षीय मिश्रा ने कहा, पूरी टीम के लिए रणनीति तैयार की जाती है। जैसा कि मैंने कहा कि हम किसी टीम को हल्के में नहीं ले सकते। हमारी रणनीति गेंदबाजों और बल्लेबाजों के लिए है और ऐसी ही तैयारी विलियम्सन के लिए भी है।

दिल्ली का अबुधाबी में यह पहला मैच होगा। यहां की पिच के लिए लेग स्पिनर ने कहा, मेरे ख्याल से यहां की पिच बल्लेबाजों के लिए मददगार है। हमने जैसा देखा है कि पिच दुबई के मुकाबले थोड़ी धीमी है इसका मतलब बल्लेबाज को शॉट खेलने के लिए समय मिलेगा। बल्लेबाज को इसका फायदा मिलेगा और गेंदबाजों को अपनी रणनीति सही रखनी होगी तथा हम भी ऐसा ही करेंगे।

मुख्य कोच रिकी पोंटिंग के लिए मिश्रा ने कहा, मेरा मानना है कि उन्होंने शीर्ष स्तर पर काफी क्रिकेट खेला है और उन्हें हर खिलाड़ी की मानसिकता के बारे में पता है। वह जानते हैं कि लोगों से कैसे बात करनी है और किस समय क्या बोलना है। वह खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाते हैं और हमेशा सकारात्मक रहते हैं।

उन्होंने कहा,पोंटिंग इस बात का भी ख्याल रखते हैं कि टीम के युवा खिलाड़ी अपनी बात बिना झिझक रख सकें। उनका खुद व्यवहार काफी मजाकिया है और वह खिलाड़ियों से अलग से बात करते हैं। मुझे भी उनसे बात करने और उनके कौशल के बारे में जानने तथा विभिन्न स्थिति से पार पाने का तरीका सीखने का मौका मिला।

ईशांत शर्मा और रविचंद्रन अश्विन की फिटनेस के लिए मिश्रा ने कहा, दोनों खिलाड़ियों ने नेट्स पर गेंदबाजी की है। मेरे ख्याल से दोनों को मामूली चोटें आई है और टीम फिजियो पैट्रिक फरहार्ट उनकी चोट का आकलन कर रहे हैं। यकीन है कि दोनों खिलाड़ी जल्द टीम में वापस आएंगे।

कप्तान श्रेयस अय्यर की कप्तानी पर उन्होंने कहा, वह एक सकारात्मक इंसान है। मेरे लिए सबसे अच्छी बात यह है कि श्रेयस गेंदबाजों को उनकी फील्ड्स और रणनीति बनाने की छूट देते हैं। वह हमेशा खिलाड़ियों के साथ रहते हैं और मुझे यकीन है कि श्रेयस एक बेहतर कप्तान बनने के लिए विकसित हो रहे हैं।
मिश्रा ने कहा, जब टी-20 क्रिकेट नया था तो मैं हमेशा सुनता था कि यह लेग स्पिनर का खेल नहीं है और इससे मेरा मनोबल बढ़ता था। मैं हमेशा एक अच्छा गेंदबाज बनने के प्रयास करता था। कई बार आप डॉट गेंद कराना चाहते हैं, लेकिन ज्यादातर विकेट लेना चाहते हैं और बल्लेबाजों पर दबाव बढ़ाना चाहते हैं।(वार्ता)



और भी पढ़ें :