सराहनीय काम करने वाली महिला कैदियों को 'तिनका तिनका सम्मान'

पुनः संशोधित शनिवार, 10 मार्च 2018 (20:31 IST)
पोर्ट ब्लेयर। के मौके पर अंडमान निकोबार के नेशनल मेमोरियल सेलुलर जेल के बाहर महिला कैदियों को सम्मानित किया गया। इन महिलाओं को उनके द्वारा किए जा रहे सराहनीय कार्य के लिए 'तिनका-तिनका बंदिनी अवॉर्ड' से सम्मानित किया गया है।

खास बात यह है कि जिन पांच महिला कैदियों को इस सम्मान से नवाजा गया, उनमें से एक कैदी को मौत की सजा दी गई है, जबकि तीन अन्य कैदी उम्रकैद की सजा काट रही हैं। इन पुरस्कारों को अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह के समाज कल्याण विभाग की सचिव और आईएएस अधिकारी रश्मि सिंह ने रिलीज किया। इस मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान सेलुलर जेल की निदेशक डॉ. रशीदा भी मौजूद थीं।

महिला कैदियों को दो कैटेगरी (स्कूल एंड कौशल और आर्ट एंड क्रिएटिविटी कैटेगरी) में सम्मानित किया गया। जिन कैदियों को सम्मानित किया गया है, उनमें फमिदा हनीफ सैय्यद, मिनाबेन हरसुरबाई खुमान, सरोज देवी, मुस्कान और बेबी शामिल हैं।

गौरतलब है कि फमिदा हनीफ जो नागपुर जेल में बंद है, को प्रिजन एडमिनिस्ट्रेशन को मदद करने के लिए यह सम्मान दिया गया है। वहीं मिनाबेन जो राजकोट की जेल में हैं को जेल में बंद कैदियों के बच्चों को पढ़ाने के लिए जबकि सरोज देवी को फिरोजाबाद की जेल में कैदियों के कपड़े सिलने में मदद करने के लिए यह सम्मान दिया गया है।



और भी पढ़ें :