गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. अंतरराष्ट्रीय
  4. Scientists discovered 5 new species of black coral at a depth of 2500 feet in the sea
Written By
पुनः संशोधित शनिवार, 26 नवंबर 2022 (23:44 IST)

वैज्ञानिकों ने समुद्र में 2500 फुट गहराई में खोजी काले मूंगे की 5 नई प्रजातियां

वॉशिंगटन। रिमोट संचालित एक पनडुब्बी का उपयोग कर मेरे सहकर्मियों और मैंने ऑस्ट्रेलिया तट के पास ग्रेट बैरियर रीफ और कोरल सागर में 2500 फुट (760 मीटर) की गहराई में काले मूंगे की 5 प्रजातियों की खोज की है।काले मूंगे उथले जल से लेकर 26000 फुट (8000) मीटर की गहराई तक बड़े होते पाए जाते हैं और कुछ मूंगे (प्रवाल) का जीवनकाल 4000 वर्षों से अधिक तक होता है।

इनमें से कई मूंगे पंख और झाड़ियों की तरह दिखते हैं, जबकि अन्य गुच्छे जैसे नजर आते हैं। उथले जल में पाई जाने वाले अन्य मूंगों के उलट वे ऊर्जा प्राप्त करने के लिए सूर्य की रोशनी और प्रकाश संश्लेषण पर निर्भर करते हैं।मैं और ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों की एक टीम ने 2019 और 2020 में स्मिद ओशन इंस्टीट्यूट के दूरस्थ संचालित यान-सुबास्टिन नाम की एक पनडुब्बीका इस्तेमाल ग्रेट बैरियर रीफ और कोरल सागर का अन्वेषण करने के लिए किया।

हमारा लक्ष्य 130 फुट से लेकर 6000 फुट तक की गहराई में पाए जाने वाले मूंगे के नमूने एकत्र करना था। पूर्व में इस क्षेत्र के गहरे हिस्से में मूंगे उन पद्धतियों का इस्तेमाल कर एकत्र किए गए, जिनमें वे अक्सर नष्ट हो जाते थे।हमने गहरे जल की पारिस्थितिकी में एक रोबोट उतारा, जिससे हमारी टीम गहरे समुद्र में मूंगे को उनके प्राकृतिक अधिवास में एकत्र कर पाई। 31 बार गोता लगाने के दौरान मेरे सहकर्मियों और मैंने काले मूंगे की 60 प्रजातियां एकत्र कीं।

हमने रोबोट का इस्तेमाल कर मूंगे को सावधानीपूर्वक रेतीली सतह या प्रवाल भित्ति से अलग किया, मूंगे को एक दबाव वाले, तापमान नियंत्रित भंडारण बक्से में रखा और उन्हें सतह तक लाया। हम मूंगे की भौतिक विशेषताओं की पड़ताल करेंगे और उनके डीएनए का अनुक्रमण करेंगे।

मूंगे की कई प्रजातियों में पांच नई प्रजातियां शामिल हैं, जिनमें एक को हमने 2500 फुट से अधिक की गहराई में बड़ा होते हुए पाया। हालिया शोध ने गहरे समुद्र के बारे में यह जानकारी दी है कि उनमें जीवविज्ञानियों के अनुमान से अधिक प्रजातियां मौजूद हैं। विश्व में काले मूंगे की सिर्फ 300 ज्ञात प्रजातियां पाए जाने की धारणा के बीच एक सामान्य स्थान पर पांच नई प्रजातियों का पाया जाना हमारी टीम के लिए बहुत हैरान करने वाला उत्साहजनक था।

कई काले मूंगे आभूषण के लिए अवैध दोहन किए जाने के कारण खतरे का सामना कर रहे हैं। इन समृद्ध अधिवास के स्मार्ट संरक्षण को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से शोधकर्ताओं के लिए यह जरूरी है कि इन गहरे स्थानों पर किस तरह की प्रजातियां रहती हैं और प्रत्‍येक प्रजाति की भोगौलिक श्रृंखला क्या है।

जब भी वैज्ञानिकों ने गहरे सागर का अन्वेषण किया, उन्होंने नई प्रजातियों का पता लगाया। जीवविज्ञानी जितनी अधिक संख्या में प्रजातियों का पता लगाएंगे, हम उनके उदविकास के इतिहास को समझने में उतने सक्षम होंगे। इसमें यह भी शामिल है कि उन्होंने कम से कम चार बार विलुप्ति का कैसे सामना किया। मेरे सहकर्मियों और मेरे लिए अगला कदम समुद्र के तल का अन्वेषण जारी रखना है।(द कन्वरसेशन)
Edited By : Chetan Gour
ये भी पढ़ें
निजी क्षेत्र के उपग्रह 'इंटरनेट ऑफ थिंग्स', पृथ्वी अवलोकन को देंगे बढ़ावा