प्रिंस फिलिप के जनाजे के केंद्र में रहेगी उनकी डिजाइन की गई लैंड रोवर

Last Updated: रविवार, 11 अप्रैल 2021 (21:14 IST)
लंदन। की अगले शनिवार को दक्षिण-पूर्व इग्लैंड के में अंत्येष्टि होगी। कोरोनावायरस महामारी के चलते यह कार्यक्रम अपेक्षाकृत सीमित पैमाने पर होगा। हालांकि करीब 15 साल पहले उन्होंने जिस लैंड रोवर को डिजाइन करने में मदद की थी, उसे उनके जनाजे में शामिल किया जाएगा। के शाही आवास ने इस बारे में विवरण जारी किया है।
समझा जाता है कि यह गाड़ी कुछ बदलाव के साथ डिफेंडर 130 गन बस होगी, जिसे के दिवंगत पति ने 2005 में उपयोग में शामिल किया था। इसके तीन साल बाद जाकर ब्रिटिश लग्जरी ब्रांड जगुआर और लैंड रोवर (जेएलआर) का टाटा मोटर्स ने अधिग्रहण किया था।

जेएलआर के एक बयान में कहा गया है, जगुआर लैंड रोवर में हम, ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग प्रिंस फिलिप के निधन से बेहद दुखी हैं। इसमें कहा गया है, हमारी संवेदनाएं महारानी के साथ है। प्रिंस फिलिप ने लोक सेवा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया और ब्रिटिश विनिर्माण, इंजीनियरिंग तथा डिजाइन में अहम योगदान दिया।

प्रिंस फिलिप के ताबूत को लैंड रोवर पर रखा जाएगा, जो आठ मिनट के जनाजे के बाद सेंट जॉर्ज्स चैपल के द्वार पर पहुंचेगी। उसी स्थान पर 17 अप्रैल को एक मिनट के राष्ट्रीय मौन के साथ स्थानीय समय के अनुसार दोपहर तीन बजे अंत्येष्टि कार्यक्रम शुरू होगा। बकिंघम पैलेस ने एक बयान में कहा, अंत्येष्टि की योजना ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग की इच्छा के अनुरूप बनाई गई है।

लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग ने कहा, ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग के निधन के मद्देनजर 13 अप्रैल को वैशाखी और अन्य उत्सव मनाने के लिए प्रस्तावित कार्यक्रम को स्थागित कर दिया गया है। अंत्येष्टि कार्यक्रम का टीवी पर सीधा प्रसारण किया जाएगा। कोविड-19 लॉकडाउन दिशानिर्देशों को बरकरार रखते हुए सिर्फ 30 अतिथि ही उपस्थित होंगे और प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी जगह शाही परिवार के एक सदस्य के लिए दी है।

ब्रिटिश प्रधानमंत्री के आवास सह कार्यालय 10 डाउनिंग स्ट्रीट के प्रवक्ता ने कहा कि प्रधानमंत्री शनिवार को अंत्येष्टि कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने शाही परिवार के अधिक से अधिक लोगों की उपस्थिति की संभावना बनाने के लिए यह फैसला किया है।

गौरतलब है कि सामान्य परिस्थितियों में करीब 800 अतिथि अंत्येष्टि कार्यक्रम में उपस्थित होते हैं, लेकिन अभी यह संख्या 30 रखी गई है, जिसमें महारानी के परिवार के सदस्य एवं करीबी रिश्तेदारों की उपस्थिति रहेगी।(भाषा)



और भी पढ़ें :