कास्त्रो-ओबामा का संयुक्त संबोधन, कई बार पैदा हुई अजीब स्थिति

हवाना| पुनः संशोधित मंगलवार, 22 मार्च 2016 (10:39 IST)
हवाना। अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन के दौरान क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो बार बार हेडफोन लगाते और उतारते नजर आए। इसके साथ ही वह कक्ष में इधर-उधर सवालिया निगाह से भी देखते रहे।
 
संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में 84 वर्षीय कास्त्रो ने पूछा, 'आपने राजनीतिक कैदियों के बारे में क्या कहा? क्या आप राजनीतिक कैदियों के बारे में पूछे गए सवाल को दोहरा सकते हैं?'
 
ओबामा और कास्त्रो सोमवार को अमेरिका और क्यूबा के संबंधों के एक नए दौर में बात कर रहे थे लेकिन इस संयुक्त सम्मेलन के दौरान दो संस्कृतियों, दो राजनीतिक व्यवस्थाओं और दो पीढ़ियों का टकराव कई बार देखने को मिला। इसी संवाददाता सम्मेलन को क्यूबा टेलीविजन पर सीधे प्रसारित किया गया।
 
इस संबोधन से कई सप्ताह पहले क्यूबा और अमेरिका के अधिकारियों ने लंबे समय तक ये वार्ताएं की थीं कि हवाना में दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद क्या संवाददाताओं को सवाल पूछने की अनुमति दी जाएगी? जब ओबामा बीजिंग गए थे, तब चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने भी संवाददाताओं के सवालों का सामना किया था।
 
अंत में कास्त्रो पत्रकारों का एक सवाल लेने के लिए राजी हो गए। शीतयुद्ध के दौर से एक दूसरे के दुश्मन बने हुए इन देशों के बीच मौजूद बहुत से अंतरों में से एक बड़ा अंतर मीडिया की मुखरता भी है।
 
संयुक्त संबोधन में मौजूद इन दोनों नेताओं के जन्मकाल में ही 30 साल का अंतर है। एक का जन्म वैश्विक पूंजीवाद के केंद्र में हुआ है तो दूसरे का जन्म साम्यवादी विचारधारा के एक परीक्षण स्थल पर हुआ है। (भाषा)



और भी पढ़ें :