ईरान ने ब्रिटेन के राजदूत को हिरासत में लेने के बाद रिहा किया

Last Updated: रविवार, 12 जनवरी 2020 (10:10 IST)
लंदन। के विदेश मंत्री डोमिनिक राब ने बताया कि प्रशासन ने में ब्रिटेन के को कुछ समय के लिए हिरासत में लिया था।
राजदूत रोब मकायर को ईरान में शासन के खिलाफ हो रहे के दौरान कथित तौर पर हिरासत में लिया गया था। हालांकि राजदूत को एक घंटे के बाद रिहा कर दिया गया था।

राब ने राजदूत रोब मकायर को हिरासत में लिए जाने के बाद एक बयान में कहा कि बिना किसी आधार और व्याख्या के तेहरान में हमारे राजदूत को हिरासत में लिया जाना अंतरराष्ट्रीय कानून का खुले तौर पर उल्लंघन है।
मंत्री ने ईरान को चेतावनी दी कि वह ‘दोराहे पर खड़ा है’ और उसे ‘परित्यक्त देश’ का दर्जा या फिर ‘बातचीत के जरिए तनाव कम करने की दिशा में कदम’ में से किसी एक को चुनना होगा।

मकायर को तेहरान में कथित तौर पर प्रदर्शनकारियों को ‘उकसाने’ के मामले में हिरासत में लिया गया। ईरान में ये प्रदर्शन यूक्रेन के विमान को गलती से गिराए जाने के बाद शुरू हुआ।

ईरान ने स्वीकार किया है कि उसने गलती से विमान को निशाना बनाया था। इसमें 176 लोगों की मौत हो गई थी। ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने विमान गिराए जाने को ‘अक्षम्य गलती’ बताया है।
माफी मांगे ईरान : अमेरिका ने ईरान में ब्रिटेन के राजदूत रॉब मैकेयर को हिरासत में लेने के ईरान के कदम की निंदा की है और उससे सार्वजनिक रूप से माफी मांगने के लिए कहा है।

अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने ट्वीट कर कहा कि ईरानी प्रशासन ने ईरान में ब्रिटेन के राजदूत को हिरासत में लिया। यह वियना कन्वेंशन का उल्लंघन है। हम ईरान से ब्रिटेन से औपचारिक रूप से माफी मांगने के लिए कहते हैं और सभी राजनयिकों के अधिकारों का सम्मान करने का आह्रान करते हैं।



और भी पढ़ें :