एटीएम अपने आप उगल रहा है नोट

पुनः संशोधित मंगलवार, 17 फ़रवरी 2015 (14:25 IST)
साल 2013 में यूक्रेन के कीव शहर का एक एटीएम अचानक दिन में अपने आप पैसा उगलने लगा। यह किसी के एटीएम को छूने या क्षति पहुंचाने से नही हुआ था, बल्कि एटीएम बेतरतीब अपने आप पैसे उगल रहा था। एटीएम में लगे कैमरे में यह दिखाया गया।
उस समय जो भी लोग अपने भाग्य के चलते वहां मौजूद थे उन्होंने वे ढेर सारे पैसे बटोरे और चलते बने। बाद में हुई जांच में रूस की साइबर सिक्योरिटी फर्म ने खुलासा किया कि यह सब बैंक के सिस्टम में हुई गड़बड़ी के चलते हुआ है।
 
जांच में खुलासा किया गया कि बैंक के ही किसी कर्मचारी ने (जो हर रोज पैसे ट्रांसफर व बुककीपिंग करता है) बैंक के कप्यूटर में एक वायरस डाल दिया था। जिससे कि साइबर क्रिमनल बैंक की हर हरकत पर नजर रखे हुए थे।
 
वह वायरस महीनों तक बैंक के में रहा और इस दौरान बैंक में होने वाली हर जानकारी ऑडियो, वीडियो और इमेज के माध्यम से साइबर अपराधियों को भेजता रहा। इसके बाद अपराधियों ने दुनिया भर के बैंकों में सेंध लगाना शुरू की और दुनिया भर के बैंकों से अपने डमी अकाउंट में कई बिलियन रुपए ट्रांसफर कर लिए।
 
ये साइबर अपराधी इतनी सफाई से चोरी करते हैं कि इसके पीछे कोई सुरीग नहीं छोड़ते। हालांकि जिन बैंकों में यह चोरी रिपोर्ट की गई है। वे खुलकर सामने नहीं आ रहे हैं। लेकिन, जिस प्रकार से दुनिया में चोरी का सिलसिला बढ़ रहा है उसने साइबर सिक्योरिटी की साख पर बट्टा लगा दिया है। 



और भी पढ़ें :