फ्रांसीसी पीएम बोले, देश को खौफ के साथ जीना सीखना होगा

पेरिस| पुनः संशोधित बुधवार, 20 जुलाई 2016 (11:53 IST)
हमें फॉलो करें
पेरिस। फ्रांस के प्रधानमंत्री ने आगाह किया है कि देश को और घातक हमलों के लिए तैयार रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश को खौफ के साथ जीना सीखना होगा।
 
उनकी यह चेतावनी राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के उस वक्तव्य के बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था कि बास्तील दिवस के मौके पर नीस में हुए हमले के बाद वह फ्रांस में आपातकाल को और छह माह के लिए बढ़ाना चाहते हैं। नीस में हुए हमले में 84 लोगों की मौत हो गई थी।
 
वाल्स ने फ्रांस के सांसदों से कहा कि इन शब्दों को कहना मुश्किल जरूर है लेकिन ऐसा करना मेरा कर्तव्य है। अभी और हमले होंगे और कई निर्दोष लोग मारे जाऐंगे।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें इनका आदी नहीं होना चाहिए लेकिन इस खौफ के साथ जीना सीख लेना चाहिए। वाल्स ने कहा कि मार्च में पेरिस के निकट हथियारों के जखीरे के साथ गिरफ्तार किया गया संदिग्ध इस्लामी आतंकवादी रेडा करिकेट निश्चित रूप से फ्रांस में होने वाले यूरो 2016 फुटबॉल टूर्नामेंट पर हमले की योजना बना रहा था। यह आयोजन हफ्तेभर पहले ही बिना किसी बाधा के सम्पन्न हुआ है।
 
ओलांद ने पिछले गुरूवार को ही आपातकाल सुरक्षा उपायों को योजनाबद्ध तरीके से हटाने की घोषणा की थी। इसके तहत पुलिस को तलाशी लेने और लोगों को नजरबंद रखने की अतिरिक्त शक्तियां हासिल हो गई थी। यह आपातकाल बीते नवंबर माह में पेरिस में हुए हमलों के बाद लगाया गया था। उन हमलों में 130 लोगों की मौत हो गई थी।
 
ओलांद ने अपने पुर्तगाल दौरे के वक्त कहा था कि पूरे यूरोप को बचाव को अपनी प्रथम प्राथमिकता बना लेना चाहिए। उन्होंने कहा था कि हमारे सामने कई चुनौतियां हैं और इसमें कोई संदेह नहीं है कि उनमें से सबसे बड़ी चुनौती है। (भाषा) 



और भी पढ़ें :