दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स बिल गेट्स ने शेयर किया अपना 48 साल पुराना रिज्यूम, लोगों से पूछा कैसा है?

Last Updated: शनिवार, 2 जुलाई 2022 (12:52 IST)
हमें फॉलो करें
किसी भी तरह की नौकरी के लिए रिज्‍यूम एक बेहद महत्‍वपूर्ण दस्‍तावेज है। नौकरी के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले इसी की जरूरत होती है। बता दें कि सालों पहले भी रिज्‍यूम काम में लिया जाता था और आज भी यह सबसे पहले मांगा जाता है। दरअसल, रिज्‍यूम की बात इसलिए कर रहे हैं क्‍योंकि हाल ही में दुनिया के सबसे अमीर शख्‍स ने अपना करीब 48 साल पुराना रिज्‍यूम शेयर किया है।

उन्होंने शुक्रवार को लिंक्डइन पर अपना साल 1974 का रिज्यूम शेयर किया है, और लिखा- चाहे आप हालिया ग्रैजुएट हों या कॉलेज ड्रॉपआउट, मुझे यकीन है कि आपका रिज्यूमें मेरे 48 साल पुराने वाले की तुलना में कहीं बेहतर दिखता होगा।
<a class=bill gates resume" class="imgCont" height="490" src="https://nonprod-media.webdunia.com/public_html/_media/hi/img/article/2022-07/02/full/1656746381-0489.JPG" style="border: 1px solid #DDD; margin-right: 0px; float: none; z-index: 0;" title="bill gates resume" width="503" />

सोशल मीडिया में बिल गेट्स का रिज्‍यूम वायरल हो रहा है। यानी बिल ने अपने कॅरियर की शुरुआत का रिज्‍यूम शेयर कर लोगों को दिखाया है। बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के को-फाउंडर और दुनिया के सबसे अमीर शख्‍सियतों में एक हैं और जब बिल गेट्स ने लिंक्डइन (LinkedIn) पर अपना रिज्यूम पोस्‍ट किया तो कुछ ही मिनट में ये पूरी दुनिया में वायरल हो गया।

रिज्‍यूम शेयर करन उन्‍होंने लोगों से पूछा कि कैसा लग रहा है और यह भी कहा कि मुझे यकीन है कि आपका रिज्यूमें मेरे 48 साल पुराने वाले तुलना में कहीं ज्‍यादा अच्‍छा दिखता होगा। बिल गेट्स की इस पोस्‍ट पर लाखों यूजर्स लाइक्स कर रिएक्‍शन दे रहे हैं।

क्‍या है बिल गेट्स के रिज्यूम में?
यह 1974 का है। जिसमें उनका नाम विलियम एच गेट्स है। इस उन्होंने हार्वर्ड में पहले साल के दौरान तैयार किया था। रेज्यूम में लिखा है- उन्होंने ऑपरेटिंग सिस्टम स्ट्रक्चर, डेटाबेस मैनेजमेंट, कंपाइलर कंस्ट्रक्शन और कंप्यूटर ग्राफिक्स जैसे कोर्स किए हैं। उन्हें Fortran, Cobol, Algol, Basic जैसी सभी प्रमुख प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेस में अनुभव है। उन्होंने 1973 में टीआरडब्ल्यू सिस्टम्स ग्रुप के साथ सिस्टम प्रोग्रामर के रूप में अपने अनुभव का उल्लेख किया। इसके अलावा उन्होंने 1972 में लेकसाइड स्कूल, सिएटल में कॉन्ट्रैक्ट पर को-लीडर और को-पार्टनर के तौर पर अपने कार्यकाल के बारे में भी लिखा है।



और भी पढ़ें :