खुलकर हँसने से बनती है सेहत

नई दिल्ली| ND| Last Updated: बुधवार, 4 दिसंबर 2019 (11:18 IST)
हँसना यदि सेहत के लिए फायदेमंद है तो जोर से हँसना शरीर को और भी ज्यादा लाभ पहुँचाता है। हाल ही में किए गए मनोवैज्ञानिक अध्ययनों में बताया गया है कि जोर से हँसने से शरीर में एक प्रकार की तरंग दौ़ड़ जाती है, जिसमें एंडोरफिन हार्मोन भी होता है।
यह वही हार्मोन है जो एक्सरसाइज करने से उत्सर्जित होता है, इसलिए जोर से हँसने से पूरे शरीर का व्यायाम हो जाता है।

एंडोरफिन हार्मोन शरीर का प्राकृतिक दर्द निवारक है। यह हार्मोन शरीर को स्वस्थ और उत्साही बनाए रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विशेषज्ञ कहते हैं कि हर दिन दो बार खुलकर हँसना, 15 बार दबी हुई हँसी हँसने के बराबर होता है और यह सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है।

हँसने के फायदे : हँसी ऐसी दवा है जिसका सकारात्मक प्रभाव पूरे शरीर पर पड़ता है। विशेषज्ञ कहते हैं कि इससे कोशिकाओं और अंगों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुचारु रूप से होती है और यदि कहीं ऑक्सीजन का स्तर कम-ज्यादा है तो हँसने से वह सामान्य हो जाता है।

हँसने से मस्तिष्क के दाएँ और बाएँ दोनों भागों की सक्रियता बढ़ती है। निर्णय क्षमता बढ़ती है और यहाँ तक कि मैमोरी भी शार्प होती है। हँसने से माँसपेशियों के खिंचाव में आराम मिलता है और शरीर रिलेक्स फील करता है।

ताजगी का राज : शरीर को तरोताजा बनाए रखने में हँसी का सबसे ब़ड़ा योगदान है। खुलकर हँसने से मन, मस्तिष्क और शरीर में ताजगी भर जाती है और आप अगले दिन काम करने के लिए पूरी तरह तैयार रहते हैं।

हँसने से शरीर में रक्त संचरण सामान्य होता है और एब्डॉमिनल मसल्स की एक्सरसाइज होती है। चेहरे पर उम्र का प्रभाव कम करने में भी हँसी लाजवाब है। विशेषज्ञ तो कहते हैं कि नियमित हँसने से हार्ट अटैक का खतरा भी कम हो जाता है। इसके लिए प्रतिदिन 15 मिनट हँसने की सलाह दी जाती है।

हँसी के सामाजिक फायदे भी : हँसने का दूसरा ब़ड़ा फायदा सामाजिक दायरा बढ़ना है। यदि आप अपने ग्रुप में चुपचाप रहते हैं और लोगों से ज्यादा घुलते-मिलते नहीं हैं तो आपका दायरा सीमित हो जाएगा, लेकिन यदि आप सभी से प्रसन्नता और मुस्कान के साथ मिलते हैं और छोटी-छोटी बातों पर हंसी-मजाक करते हैं तो आपका सामाजिक दायरा कहीं ज्यादा बड़ा होगा।

ऑफिस, परिवार और दोस्तों में खुशमिजाज व्यक्ति पसंद किया जाता है। उदाहरण के तौर पर आपने देखा होगा कि ग्रुप में यदि एक व्यक्ति किसी बात पर हँसता है तो उसे देखकर दूसरे भी हँसने लगते हैं। (नईदुनिया)


और भी पढ़ें :