0

19 नवंबर : इंदिरा गांधी की जयंती पर विशेष

बुधवार,नवंबर 18, 2020
Indira Gandhi 1
0
1
झांसी, यहां किला बनने और रानी लक्ष्मीबाई के आगमन के बाद इस किले में हर जगह नजर आने वाली उनकी छाप का सिलसिला कुछ इस तरह हैं।
1
2
19 नवंबर 2020 को झांसी की रानी लक्ष्मीबाई की जयंती है। वह 1857 के प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगना थीं। उन्होंने कभी भी विदेशी आक्रांताओं और शासकों की दासता स्वीकार नहीं की और अपनी मातृभूमि की रक्षार्थ बलिदान दे दिया। आओ जानते हैं उनके ...
2
3
भारत के वीर सेनानी लाला लाजपत राय जी का जन्म 28 जनवरी 1865 को पंजाब के फिरोजपुर जिले के धूदिकी गांव में हुआ था। स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने कानून की उपाधि प्राप्त करने
3
4
यहां पाठकों के लिए पेश हैं पंडित जवाहर लाल नेहरू के 12 अनमोल वचन :-
4
4
5
नेहरू के कार्यकाल में लोकतांत्रिक परंपराओं को मजबूत करना, राष्ट्र और संविधान के धर्मनिरपेक्ष चरित्र को स्थायी भाव प्रदान करना और योजनाओं के माध्यम से देश की अर्थव्यवस्था को सुचारु करना उनके मुख्य उद्देश्य रहे।
5
6
'लौहपुरुष' सरदार वल्लभभाई पटेल भारत के पहले गृहमंत्री थे। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद देशी रियासतों का एकीकरण कर अखंड भारत के निर्माण में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता है। भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन को वैचारिक एवं क्रियात्मक रूप में एक नई दिशा देने ...
6
7
अब्राहम लिंकन का जन्म 12 फरवरी, 1809 में एक गरीब अश्वेत परिवार में हुआ था। वे प्रथम रिपब्लिकन थे, जो अमेरिका के सोलहवें राष्ट्रपति बने।
7
8
महाराजा अग्रसेन का जन्म आश्विन शुक्ल प्रतिपदा को सूर्यवंशी क्षत्रिय कुल में हुआ था। अग्रकुल प्रवर्तक महाराजा अग्रसेन प्रतापनगर के सूर्यवंशी क्षत्रिय राजा वल्लभ के पुत्र थे
8
8
9
अपने जीवन में इन 2 महिलाओं से बहुत प्रभावित थे अब्दुल कलाम साहब। वे कहते थे नारी जाति ईश्वर की सबसे सुंदर रचना है।
9
10
डॉक्टर अब्दुल कलाम को प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह (एस.एल.वी. तृतीय) प्रक्षेपास्त्र बनाने का श्रेय हासिल है।
10
11
भारत के पूर्व राष्ट्रपति जानेमाने वैज्ञानिक, जिन्हें दुनिया मिसाइलमैन के नाम से भी जानती है। उनका जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम तमिलनाडु में हुआ था।
11
12
देश की राजनीति में स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान और स्वतंत्रता के बाद ऐसे कई नेता हुए जिन्होंने अपने दम पर शासन का रुख बदल दिया जिनमें से एक थे राममनोहर लोहिया।
12
13
11 अक्टूबर, 1902 को जन्मे जयप्रकाश नारायण भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे। वे समाज-सेवक थे, जिन्हें ‘लोकनायक’ के नाम से भी जाना जाता है।
13
14
वीरांगना महारानी दुर्गावती का जन्म 5 अक्टूबर 1524 में हुआ था। उनका राज्य गोंडवाना में था।
14
15
हमारे देश के ऐसे कई वीरों और वीरांगनाओं की दास्तान दबा दी गई जिन्होंने मुगल और अंग्रेजों से लड़कर विजयी प्राप्त की थी। उन्हीं में से एक थीं रानी दुर्गावती। दुर्गावती के वीरतापूर्ण चरित्र को भारतीय इतिहास में हमेशा याद रखा जाएगा। सचमुच वह मां दुर्गा ...
15
16
महात्मा गांधीजी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। उनका जन्म 2 अक्टूबर को पोरबंदर में हुआ था। महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन, मार्टिन लूथर किंग जूनियर और साउथ अफ्रीका के नेल्सन मंडेला महात्मा गांधी को पसंद करते थे।
16
17
महात्मा गांधी और शास्त्रीजी की जयंती एक ही दिन मनाई जाती है। लालबहादुर शास्त्री जी का जन्म 2 अक्टूबर 1904 को मुगलसराय के एक निर्धन परिवार में हुआ था।
17
18
पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 25 सितंबर 1916 को मथुरा जिले के नगला चंद्रभान गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम भगवती प्रसाद उपाध्याय और माता का नाम रामप्यारी था।
18
19
पंडित दीनदयाल उपाध्याय मात्र राजनेता नहीं थे, वे उच्च कोटि के चिंतक, विचारक और लेखक भी थे। उन्होंने शक्तिशाली और संतुलित रूप में विकसित राष्ट्र की कल्पना की थी। आइए पढ़ें उनके 10 अनमोल और प्रेरक विचार...
19