0

National Statistics Day 2022: जानिए पीसी महालनोबिस के बारे में 10 खास बातें

बुधवार,जून 29, 2022
0
1
Draupadi murmu: राष्ट्रपति चुनाव को लेकर एनडीए (NDA) ने अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है। द्रौपदी मुर्मू एनडीए की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार होंगी। द्रौपदी मुर्मू ने ओडिशा में पार्षद बनने के साथ राजनीतिक जीवन की शुरुआत की थी। आओ जानते हैं उनके ...
1
2
आज रानी दुर्गावती Rani Durgavati का बलिदान दिवस है। रानी दुर्गावती का नाम भारत के इतिहास में जाना-माना नाम है, जिन्होंने अपनी मातृभूमि के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। वे कालिंजर के राजा कीर्तिसिंह चंदेल की इकलौती संतान थीं। जानिए यहां उनके ...
2
3
6 जुलाई, 1901 को डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी (syama prasad mukherjee) का जन्म एक संभ्रांत परिवार में हुआ था। 23 जून, 1953 को मृत्यु
3
4
फिल्म 'झनक झनक पायल बाजे' के ही राग अड़ाना के गीत 'झनक झनक तोरी बाजे पायलिया' को जब हम सुनते या देखते हैं तो गायन-वादन और नृत्य का अद्भुत त्रिवेणी संगम दिखता है। इस गीत का तबला तो अद्भुत ही है, जिसके कारण यह गीत एक प्रख्यात गीत बना। यह तबला और किसी ...
4
4
5
झांसी की रानी लक्ष्मीबाई आत्मविश्वासी, कर्तव्य परायण, स्वाभिमानी और धर्मनिष्ठ वीरांगना थीं। आइए जानते हैं भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाली झांसी की रानी के बारे में 10 अनजाने तथ्य
5
6
भारतीय इतिहास में बिरसा मुंडा एक ऐसे नायक थे, जिन्होंने भारत के झारखंड में अपने क्रांतिकारी चिंतन से उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तरार्द्ध में आदिवासी समाज की दशा और दिशा बदलकर नवीन सामाजिक और राजनीतिक युग का सूत्रपात किया।
6
7
गूगल ने 4 जून को प्रसिद्द भारतीय गणितज्ञ और भौतिक विज्ञानी सत्येंद्र नाथ बोस को गणित और विज्ञान के क्षेत्र में उनके असाधारण योगदान के लिए एक विशेष डूडल आकृति के साथ श्रद्धांजलि दी। इसी दिन वर्ष 1924 में,सत्येंद्र नाथ बोस ने अपने क्वांटम फार्मूलेशन ...
7
8
महाराणा प्रताप उदयपुर, मेवाड़ में सिसोदिया राजवंश के राजा थे। उनके कुल देवता एकलिंग महादेव हैं। मेवाड़ के राणाओं के आराध्यदेव एकलिंग महादेव का मेवाड़ के इतिहास में बहुत महत्व है।
8
8
9
वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जितना अपने पुरुषार्थ, पराक्रम, वीरता और आत्मविश्वास के लिए जाने जाते हैं उतना ही अपने कोमल हृदय के लिए भी। जहां वह चेतक के मृत्यु पर बालक की तरह फूट-फूटकर रोए थे ,वहीं जब नारी के सम्मान की बात आती थी तो वहां भी वह नारी ...
9
10
लोकमान्य बालगंगाधर तिलक एक ऐसे महापुरुष थे जिन्होंने भारतियों में स्वतंत्रता प्राप्ति की ज्योत पुनः जलाने का कार्य किया था। 1857 की क्रांति के बाद से ही जब भारतियों में एकता और आत्मविश्वास का अभाव था तब तिलक ने ही देशवासियों को जोड़ा। उन्होंने लोगों ...
10
11
28 मई 1883 को महान क्रांतिकारी वीर सावरकर (Veer Savarkar) का जन्म नासिक के भगूर गांव में हुआ। उनके पिता का नाम दामोदर पंत सावरकर था, जो गांव के प्रतिष्ठित व्यक्तियों में जाने जाते थे। उनकी माता का नाम राधाबाई था।
11
12
विनायक दामोदर सावरकर जिन्हे वीर सावरकर के नाम से जाना जाता है , भारतीय इतिहास के ऐसे क्रांतिकारी हैं जिन पर सभी के अपने अपने मत है। कोई उनके विचारों से प्रभावित होता है और कोई नहीं। पर स्वतंत्रता संग्राम में उनका योगदान प्रशंसनीय और सराहनीय है। वे ...
12
13
Jawaharlal Nehru Prerak Prasang विनम्र और विनोदप्रिय व्यक्तित्व के धनी पंडित जवाहरलाल नेहरू (Pt. Jawaharlal Nehru) को भला कौन नहीं जानता। वे स्वतंत्र भारत के पहले प्रधानमंत्री थे। यहां पढ़ें नेहरू जी के जीवन के 5 रोचक किस्से-
13
14
छत्रपति शिवाजी महाराज की सेना में पराक्रमी योद्धाओं की भरमार थी। उनके शिवाजी और स्वराज के प्रति समर्पण , निष्ठा और प्रेम अमूल्य था। वे शिवाजी के एक आदेश पर प्राणों की बाजी लगा देते थे और स्वराज के शत्रुओं पर बाघ के समान आक्रमण कर देते थे। उन्हीं में ...
14
15
27 मई को पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि है। पंडित जवाहरलाल नेहरू (Jawaharlal Nehru) कश्मीरी ब्राह्मण परिवार के थे, जो अपनी प्रशासनिक क्षमता तथा विद्वत्ता के लिए विख्यात थे।
15
16
भारतीय कुश्ती के पितामह के रूप में पहचाने जाने वाले विजय पाल यादव जी की आज 23 मई को पुण्यतिथि रहती है। उन्हें 'गुरु हनुमान' के नाम से भी जाना जाता है। वह स्वयं एक अच्छे पहलवान के साथ साथ कुश्ती के अच्छे प्रशिक्षक भी थे।
16
17
कहते हैं विपदाएं ही व्यक्ति को मजबूत बनती है। वास्तविक उदाहरण है बछेंद्री पाल। उन्होंने बचपन से संघर्षों के साथ स्वयं को ढाल लिया और उन परिस्थितियों को पार कर उन्होंने सागर के माथे पर ( सागरमाथा पर्वत ) कदम रख दिए। आइए जानते हैं बछेंद्री पाल के बारे ...
17
18
प्रतिवर्ष साल 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस (Anti Terrorism Day) मनाया है। इसी दिन यानी 21 मई 1991 को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तमिलनाडु के श्रीपेरुंबुदूर में लिट्‍टे आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी।
18
19
बिपिन चंद्र पाल। वह एक कर्मठ और निडर व्यक्तित्व थे। वह एक पत्रकार, लेखक, शिक्षक और अद्भुत वक्ता थे। उन्हें राष्ट्रवादी नेता के रूप में जाने जाते थे। वे गरम दल के नेता थे। 20 मई को उन्हें नमन करते हुए जानते हैं उनकी कुछ ख़ास बातें -
19