इंदौर की सराफा चौपाटी पहली बार बनी क्लीन स्ट्रीट फूड हब, 56 दुकान को यह तमगा दूसरी बार

Last Updated: गुरुवार, 2 सितम्बर 2021 (10:18 IST)
हमें फॉलो करें
इंदौर। के छप्पन दुकान और सराफा चौपाटी ने इस शहर को एक बार फिर गौर‍वान्वित किया है। एफएसएसआई ने दोनों को ही का तमगा दिया है। प्रदेश का इंदौर अब

इकलौता शहर है, जहां दो क्लीन स्ट्रीट फूड हब है। अहमदाबाद का कांकरिया लेक इस बार भी पहले स्थान पर है। एफएसएसआई ने देशभर की चौपाटियों पर मिलने वाले खाने की स्वच्छता और उसे सर्व करने को लेकर 2018 से क्लीन स्ट्रीट फूड हब का ऑडिट शुरू किया था। 56 दुकान को यह तमगा दूसरी बार मिला।

कई पैमानों पर खरे उतरे हम : खाद्य सामग्री बनाने में आरपो पानी के इस्तेमाल, खाना बनाने व ग्राहकों को परोसते समय ग्लव्ज, कैप, साफ-सफाई, हाईजीन, शुद्धता, कचरे का सही निपटान और बेहतर व्यवस्था के अलग-अलग पैमानों पर अंक देते हुए सर्वे करवाया था। जिला प्रशासन और खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि जनवरी 2019 में इंदौर की 56 दुकान को क्लीन स्ट्रीट फूड हब और खजराना मंदिर को भोग योजना के तहत चयनित करते हुए यह दर्जा दिया था। हर दो साल में इसका रिन्युअल होता है, जिसमें टीम दोबारा ऑडिट करती है।
अधिकारियों ने बताया कि सराफा नाइट चौपाटी का इस योजना के तहत 2020 की शुरुआत में ऑडिट हुआ था, लेकिन कोरोना महामारी के चलते इसके परिणाम जारी नहीं हो पाए थे। इसके बाद अब दोबारा सराफा चौपाटी ऑडिट हो रहा है और रात को टीम ने जब ऑडिट किया तो टीम व्यवस्थाओं से संतुष्ट नजर आई। हालांकि रिजल्ट आने में थोड़ा समय लग रहा था।



और भी पढ़ें :