0

गुरु पूर्णिमा 2022 : अगर कुंडली में है गुरु दोष, गुरु पूर्णिमा के दिन करें ये उपाय, होगा फायदा

शनिवार,जुलाई 2, 2022
0
1
हरिशयनी एकादशी यानी देवशयनी एकादशी 10 जुलाई 2022 को है। आइए जानते हैं 5 विशेष काम, जिनसे मिलेंगे 5 बड़े लाभ....
1
2
Jagannath Puri Rath Yatra 2022 : ओड़ीसा के पुरी में आषाढ़ शुक्ल द्वितीया के दिन भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा निकालकर उसी दिन 4 किलोमीटर दूर गुंडीचा मंदिर में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और देवी सुभद्रा का रख खींचकर ले जाया जाता है। वहां पर भगवान जगन्नाथ 7 ...
2
3
Deepdan for Shri Jagannath: जगन्नाथ पुरी में रथयात्रा जब गुंडीचा मंदिर पहुंच जाती है तब दूसरे दिन दीपदान महोत्सव होता है। आओ जानते हैं कि प्रभु जगन्नाथ के लिए कैसे किया जाता है दीपदान।
3
4
देवशयनी एकादशी, विष्णु-शयनी एकादशी, आषाढ़ी एकादशी और हरिशयनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। जानते हैं आषाढ़ शुक्ल हरिशयनी देवशयनी का 12 राशियों के लिए क्या वरदान है...devshayani ekadashi 2022 rashifal
4
4
5
आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी कहा जाता है। पुराणों के अनुसार, इस दिन से चार महीने के लिए भगवान विष्णु योग निद्रा में रहते हैं। इस चार महीनों में मांगलिक कार्यों की मनाही होती है। कार्तिक मास में शुक्ल पक्ष की एकादशी को भगवान ...
5
6
see the full list of july month festivals and vrat जुलाई का महीना धर्म-कर्म, तीर्थयात्रा और धार्मिक दृष्टि से बेहद खास माना जाता है, क्‍योंकि इसी महीने में शिवभक्तों का प्रिय मास श्रावण और गुरु पूर्णिमा तथा चातुर्मास का आरंभ हो रहा है। श्रावण में ...
6
7
Devshayani ekadashi 2022: आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवशयनी एकादशी इसलिए कहते हैं क्योंकि इस दिन से चार माह के लिए श्रीहरि विष्णु योगनिद्रा में सो जाते हैं। इसीलिए इसे हरिशयनी और पद्मनाभ एकादशी भी कहते हैं। इस एकादशी के व्रत को विधवत रूप ...
7
8
आषाढ़ और माघ मास की नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि कहते हैं। इस बार आषाढ़ गुप्त नवरात्रि (ashadh gupt navratri) 30 जून से शुरू होकर 8 जुलाई तक मनाई जाएगी। धार्मिक मान्यतानुसार आषाढ़ माह के विशेष दिनों में व्रत करने का बहुत ही महत्व होता है
8
8
9
Ahmedabad and Puri Rath Yatra: आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को ओड़ीसा के पुरी में और गुजरात के अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाती है। आओ जानते हैं कि दोनों ही जगह की रथयात्रा में क्या है खास अंतर।
9
10
गुप्त नवरात्र को लेकर श्रद्धालुओं के मन में कुछ संशय बना रहता है क्योंकि कुछ विद्वानों का मत है कि गुप्त नवरात्र में केवल दस महाविद्याओं की ही साधना की जाती है नौ देवियों की नहीं, हमारे मतानुसार यह मत उचित नहीं है क्योंकि नवरात्रि का पर्व देवी ...
10
11
ओड़ीसा के पुरी में प्रतिवर्ष आषाढ़ द्वितीया पर प्रभु जगन्नाथ की रथयात्रा निकाली जाती है। इस रथयात्रा में श्री बलभद्र और और सुभद्रा जी के रथ भी शामिल होते हैं। आओ जानते हैं देवी सुभद्रा और बलभद्र के बार में अनजाने राज।
11
12
Ahmedabad Jagannath Rath Yatra 2022 : अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की 145वीं रथ यात्रा प्रारंभ हो गई है। पुरी में जगन्नाथ की रथयात्रा की तरह ही यहां पर भी रथयात्रा निकलती है। इस रथ यात्रा में ‘पहिंद विधि’ की रस्म निभाई जाती है जिसे मुख्यमंत्री ...
12
13
Jagannath Puri Rath Yatra 2022 : 1 जुलाई 2022 शुक्रवार आषाढ़ शुक्ल द्वितीया के दिन से ओड़ीसा के पुरी में भगवान जगन्नाथ की यात्रा प्रारंभ हो गई है, जो एकादशी तक चलेगी। यानी कुल 10 दिन तक यह उत्सव मनाया जाता है। आओ जानते हैं इस भव्य रथयात्रा के बारे ...
13
14
Jagannath Rath yatra 2022 : 1 जुलाई से ओड़ीसा के पुरी में भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा का प्रारंभ होता है। श्रीकृष्ण, बलराम और सुभद्राजी के रथ को खींचकर 4 किलोमीटर दूर गुंडीचा मंदिर ले जाया जाता है जहां पर भगवान 7 दिनों तक विश्राम करते हैं और उसके बाद ...
14
15
रथ यात्रा के पीछे का पौराणिक मत यह है कि स्नान पूर्णिमा यानी ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन जगत के नाथ श्री जगन्नाथ पुरी का जन्मदिन होता है। उस दिन प्रभु जगन्नाथ को बड़े भाई बलराम जी तथा बहन सुभद्रा के साथ रत्नसिंहासन से उतार कर मंदिर के पास बने स्नान मंडप ...
15
16
Gupta Navaratri ki katha 30 जून से आषाढ़ महीने की गुप्त नवरात्रि आरंभ हो गई है। गुप्त नवरात्रि से जुड़ी पौराणिक कथा के अनुसार एक समय ऋषि श्रृंगी भक्तजनों को दर्शन दे रहे थे। अचानक भीड़ से एक स्त्री निकलकर आई और करबद्ध होकर ऋषि श्रृंगी से बोली कि ...
16
17
Aashadh gupt navratri 2022: 30 जून 2022, गुरुवार से आषाढ़ माह की गुप्त नवरात्रि प्रारंभ हो गई है जो 8 जुलाई तक रहेगी। इस नवरात्रि में 10 महाविद्याओं की साधना या आराधना की जाती है और आओ जानते हैं देवियों के नाम और मंत्र। गुप्त नावरात्रि में इन ...
17
18
भड़ली नवमी नवमी तक विवाह के लिए शुभ मुहूर्त है। इसके बाद देवशनी एकादशी के बाद सभी तरह के मांगलिक कार्य बंद हो जाएंगे। आओ जानते हैं कि भड़ली नवमी कब है, क्या है इसका महत्व, पूजा विधि, मुहूर्त और विवाह बाधा दूर करने के 5 उपाय।
18
19
30 जून से आषाढ़ मास की गुप्त नवरात्रि (month of ashadha) प्रारंभ हो गई है, यह 8 जुलाई को समाप्त होगी। ज्योतिषाचार्य पं. प्रणयन पाठक ने ग्रह-नक्षत्रों का विश्लेषण कर इस गुप्त नवरात्रि (Gupt Navratri 2022) को बेहद शुभ बताया है।
19