0

होली पर करते हैं ये 5 प्रमुख कार्य, तभी मनेगा त्योहार

बुधवार,फ़रवरी 26, 2020
0
1
शास्त्रों में फाल्गुन शुक्ल पक्ष का महत्व विशेष प्रकार की उपासना पूजा के लिए जाना जाता है। फाल्गुल शुक्ल की चतुर्थी को गणेश जी की प्रतिष्ठित प्रतिमा को विधिवत पूजन
1
2
होली का रंगीला पर्व बस आने ही वाला है। होली के इस पावन अवसर पर राशि के अनुसार रंगों का प्रयोग आपके जीवन में अधिक से अधिक
2
3
बिना रंग के होली की कल्पना ही नहीं की जा सकती, हम आपको प्राकृतिक रंग बनाने की विधि बता रहे हैं जिससे आप आकर्षक व चटकीले रंग घर पर ही बना सकते हैं और होली का खूब मजा ले सकते हैं।
3
4
होली का त्योहार प्रकृति का पर्व है। इस पर्व को भक्ति और भावना से इसीलिए जोड़ा जाता है ताकि प्रकृति के इस रूप से आदमी जुड़े और उसकी अमूल्य धरोहरों को समझे जिनसे ही आदमी का जीवन है। मनुष्य का
4
4
5
होली खेलने जा रहे हैं तो पहले यह जान लें कि किस तरह हम होली का आनंद दुगुना करें और प्रकृति का भी ध्यान रखें। जल ही जीवन है अत: होली के त्योहार पर पानी
5
6
हिन्दू धर्म के मुताबिक यह पर्व 2 दिन मनाया जाता है। जिसमें पहले दिन होलिकादहन किया जाता है और दूसरे दिन रंग वाली होली/धुलेंडी खेली जाती है।
6
7
होली का दहन भक्त प्रहलाद की याद में मनाया जाता है। भगवान श्रीकृष्ण के काल में इस त्योहार से रंग जुड़ गया और इसे उत्सव की तरह मनाया जाने लगा। आओ जानते हैं भक्त प्रहलाद की कथा।
7
8
पूरे विश्वभर में मशहूर बरसाना की लठमार होली में महिलाएं, पुरुषों के पीछे अपनी लाठी लेकर भागती हैं और लाठी से मारती हैं।
8
8
9
त्योहारों का समय हो और खान-पान की बात न हो..., यह भला कैसे संभव है? तो फिर आइए होली के इस रंगीले त्योहार पर हम कुछ खास तरह के व्यंजनों से मेहमानों का स्वागत‍ करें और होली को और भी मजेदार बनाएं।
9
10
2 किलो ताजा दही, मेवे की कतरन, जायफल पावडर चुटकी भर, कुछेक लच्छे केसर, इलायची पावडर एक छोटा चम्मच, शक्कर स्वादानुसार,
10
11
फुलैरा दूज से गुलरियां बनाकर सुखाई जाती है, मध्यप्रदेश निमाड़ अंचल में इस बड़बुले कहते हैं। जिनमें गोबर से कई प्रकार की आकृतियां बनाकर माला बनाई जाती है। दो दीयों को मिलाकर उसमें कंकड़ डाल कर नारियल बनाया जाता है। उसी तरह पान, बरफी, मठरी, लड्डू सब ...
11
12
साल 2020 में 25 फरवरी को फुलैरा दूज का त्योहार मनाया जाएगा। हम आपको बता रहे हैं फुलैरा दूज पर क्या करें और क्या न करें।
12
13
फुलेरा दूज एक शुभ पर्व है, जिसे उत्तर भारत के लगभग सभी क्षेत्रों में बड़े उत्साह और जोश के साथ मनाया जाता है।यह त्योहार भगवान कृष्ण को समर्पित है।
13
14
फुलैरा दूज के दिन से ही लोग होली के रंगों की शुरुआत कर देते हैं। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन से ही भगवान कृष्ण होली की तैयारी करने लगते थे और होली आने पर पूरे गोकुल को गुलाल से रंग देते थे।
14
15
होली का रंगबिरंगा सजीला पर्व इस साल 9 और 10 मार्च 2020 को है। आइए जानते हैं रंगों से जुड़ी खास रोचक बातें...रंगों की पसंद से जान सकते हैं अपनी गर्लफ्रेंड को...
15
16
आइए जानते हैं, वर्ष 2020 में कब मनाई जाएगी होली और किस दिन होगा होलिका दहन और क्या हैं शुभ मुहूर्त
16
17
इस वर्ष 9 मार्च 2020, सोमवार को होलिका दहन किया जाएगा तथा 10 मार्च 2020, मंगलवार को रंगबिरंगा त्योहार होली हर्षोल्लास से मनाया जाएगा। आइ ए जानते हैं 9 मार्च 2020 को कब दहन करें होली....
17
18
शबरी का जिक्र तो आपने रामायण के दौरान सुना, जाना और पढ़ा ही होगा आइए आज जानते हैं उनके बारे में विस्तार से...
18
19
महाशिवरात्रि और बाद में हर मासिक शिवरात्रि को सूर्यास्‍त के समय अपने घर में बैठकर अपने गुरुदेव का स्मरण करके शिवजी का स्मरण करते समय ये 17 मंत्र बोलें। 'जो शिव है वो गुरु है, जो गुरु है वो शिव है' इसलिए हम गुरुदेव का स्मरण करते हैं।
19