0

दुनिया से जाने के बाद आपके पितरों की कैसी रही होगी गति?

शनिवार,सितम्बर 21, 2019
0
1
हिन्दू घरों में धूप और दीप देने की परंपरा प्राचीनकाल से ही चली आ रही है। धूप देने से मन में शांति और प्रसन्नता का विकास ...
1
2
सरल शब्दों में समझा जाए तो श्राद्ध दिवंगत परिजनों को उनकी मृत्यु की तिथि पर श्रद्धापूर्वक याद किया जाना है। अगर किसी ...
2
3
मुक्ति और मोक्ष में फर्क है। मुक्ति से बढ़कर है मोक्ष। मोक्ष को प्राप्त करना आसान नहीं है। जब कोई व्यक्ति अपने मृतकों ...
3
4
28 सितंबर 2019, शनिवार को पितृ मोक्ष अमावस्या है। श्राद्ध पक्ष में यह अमावस्या बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। इस दिन सभी ...
4
4
5
नवरात्रि में 9 दिन मां का विधिवत पूजन किया जाता है तथा प्रथम दिन घट स्थापना की जाती है, जो शुभ मुहूर्त में होना चाहिए। ...
5
6
कहते हैं कि देवी के विभिन्न रूप को उनके वाहन, पहनावे, हाथ और शस्त्रों के अनुसार पहचाना जाता है। देवी का वाहन उल्लू और ...
6
7
21 सितंबर 2019 को महालक्ष्मी पर्व यानी गजलक्ष्मी व्रत है। इस दिन को दीपावली से भी अधिक शुभ माना जाता है। पितृ पक्ष में ...
7
8
श्राद्ध में कौए या कौवे को छत पर जाकर अन्न जल देना बहुत ही पुण्य का कार्य है। माना जाता है कि हमारे पितृ कौए के रूप में ...
8
8
9
मिट्टी का एक हाथी बनाएं या कुम्हार से बनवा लें जिस पर महालक्ष्मीजी की मूर्ति बैठी हो। सायंकाल जिस स्थान पर पूजन करना ...
9
10
पितृ पक्ष की अष्टमी के दिन किसी भी ब्राह्मण सुहागन स्त्री को कलश, इत्र, जरकन, आटा, शक्कर और घी भेंट करें। इसके अलावा ...
10
11
ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता। तुमको निस दिन सेवत हर-विष्णु-धाता॥ ॐ जय...उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही ...
11
12
महालक्ष्मी को प्रसन्न करना है तो पढ़ें लक्ष्मी चालीसा- मातु लक्ष्मी करि कृपा करो हृदय में वास। मनोकामना सिद्ध कर पुरवहु ...
12
13
इस बार शरद नवरात्रि का शुभ पर्व 29 सितंबर 2019 से आरंभ हो रहा है। हिन्दू धार्मिक ग्रंथों के अनुसार शारदीय नवरात्रि में ...
13
14
नवरात्रि में पूजन कैसे करना चाहिए और इसके क्या नियम हैं? नवरात्रि पूजन कैसे करें आइए जानें...
14
15
सबसे पहले कन्या जब घर में प्रवेश करें तब उनके पैरों में महावर या कुमकुम लगाकर घर में लेकर आएं। उन पर फूलों की वर्षा ...
15
16
आश्विन शुक्ल पक्ष की प्रतिप्रदा से शुरू होंने वाले शारदीय नवरात्रि 29 सितंबर रविवार से शुरू होने जा रहे हैं। घट स्थापना ...
16
17
वंश वृद्धि व संतान की लंबी आयु के लिए महिलाएं आश्विन कृष्ण पक्ष अष्टमी 21 और 22 सितंबर को जिउतिया का व्रत रखेंगी।
17
18
नवरात्रि के शुभ अवसर पर रंगबिरंगे परिधान धारण किए जाते हैं। हर दिन पूजा करने के लिए मां के स्वरूप के अनुसार कपड़ों के ...
18
19
प्रदोष काल व्यापिनी अष्टमी को जीमूतवाहन का पूजन होता है। इस व्रत के लिए यह भी आवश्यक है कि पूर्वाह्न काल में पारण हेतु ...
19