World Oral Health Day 2021 : जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व मौखिक स्वास्थ्य दिवस

World Oral Health Day

प्रतिवर्ष 20 मार्च को (World Oral Health Day) मनाया जाता है। इस वर्ष यह दिन को पड़ रहा है। पूरे विश्व में अलग-अलग थीम पर वर्ल्ड ओरल हेल्थ डे मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों में दांतों को स्वस्थ रखने के लिए जागरूकता फैलना है, इसीलिए लोगों को जागरूक करने तथा अपनी सेहत का अच्छे से खयाल रखकर बीमारियों से दूर रहने के लिए यह दिन मनाया जाता है।



इस दिन को मनाने की शुरुआत 20 मार्च 2013 को एफडीआई वर्ल्ड डेंटल फेडरेशन ने की थी। तब से लेकर आजतक हर साल यह दिन मनाया जाता है। इस वर्ष ओरल हेल्थ डे 2021 की थीम Be Proud Of Your Mouth है। इसमें वर्ष 2014 से इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ डेंटल स्टूडेंट्स के सहयोग से एफडीआई एक वार्षिक विश्वव्यापी प्रतियोगिता भी कराता है। यह एक गैर-सरकारी संगठन है जो दुनिया भर में डेंटल छात्रों के हितों का प्रतिनिधित्व करता है।
अगर आप स्वस्थ दांत चाहते हैं तो मसूड़ों (gums) का भी स्वस्थ होना बहुत जरूरी है। आइए जानते हैं Oral Diseases को स्वस्थ्य रखने के 10 टिप्स-

1 फ्लास करें- सप्‍ताह में 1-2 बार फ्लॉसिंग जरूर करें। इससे दांतों में जमी गंदगी निकलने से उनके खराब होने का खतरा कम हो जाता है।

2 नि‍यमित ब्रश करें- यह तो सभी जानते हैं कि दिन में 2 बार ब्रश करना चाहिए। लेकिन ब्रश खरीदते समय भी ध्‍यान रखें कि ब्रश के बाल नरम हों, ताकि दांतों के इनेमल को नुकसान ना पहुंचे।
3 मसूड़ों की मसाज- हमारे मुंह को मसाज की जरूरत होती है। इसके लिए आप नीलगिरी, गंधपूरा और पुदीने के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इन तेलों में एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं, जिससे दांत और मसूड़े सुरक्षित रहते हैं। साथ ही इससे रक्‍त संचार भी सुधरता है।

4 दांतों से हल्‍के-हल्‍के चबाएं- जिन लोगों के मसूड़ों अभी से कमजोर हो गए है उन्हें मसाज के अलावा दांतों को हल्‍के-हल्‍के चबाना चाहिए। इससे रक्‍तसंचार अच्‍छा रहता है।
5 गरारे करें- गुनगुने पानी में नमक अथवा बेकिंग सोडा डालकर उससे गरारे करें। नियमित रूप से ऐसा करने से बैक्‍टीरिया समाप्‍त होते हैं। ब्रश के बाद ऐसा करने से आपकी मौखिक समस्‍यायें दूर रहती हैं। फॉलिक एसिड को माउथवॉश के तौर पर इस्‍तेमाल करने से भी मसूड़े स्‍वस्‍थ रहते हैं।

6 स्‍वस्‍थ खाएं- अपने आहार में खूब ताजा फल, हरी पत्‍तेदार सब्जियां, लीन मीट और साबुत अनाजों को शामिल करें। इससे आपके मसूड़े स्‍वस्‍थ रहेंगे। मछली के तेल, अलसी के तेल को शामिल करें और चीनी और प्रसंस्‍कृ‍त भोजन से दूर रहें।
7 पाचन क्रिया पर दें ध्‍यान- पाचन क्रिया, जीवनशैली और भावनात्‍मक तनाव का भी आपके मसूड़ों से संबंध होता है। इसलिए आपके पाचन को भी दुरूस्त रखने का प्रयास करें।

8 खाना अच्‍छे से चबाएं- कई बार भोजन चबाने के अपने अंदाज में जरा सा बदलाव कर आप मसूड़ों की समस्‍याओं को दूर कर सकते हैं। भोजन को अच्‍छे से चबाने से इंजाइम्‍स का स्राव सही प्रकार होता है और इससे आपकी पाचन क्रिया भी अच्‍छे से काम करती है।
9 कुदरती औषधियां- हाजमे में मदद करने वाली कुदरती औषधियां आपके मसूड़ों के लिए भी बहुत फायदेमंद होती हैं। ये दवायें आपकी पाचन क्रिया को तो सुधारती ही हैं, साथ ही सांसों की दुर्गंध और ब्‍लीचिंग प्रॉब्‍लम को भी दूर रखती हैं।

10 ग्रीन टी पिएं- ग्रीन टी में एंटीबैक्‍टीरियल गुण होते हैं। जिससे ओरल कैविटी और किण्वन को दूर होने में मदद मिलती है। कई शोध में पाया गया है कि ग्रीन टी में मौजूद तत्‍व कीटाणु और दुर्गंधनाशक होते हैं, इसलिए यह मुंह की समस्‍याओं को दूर करने में काफी मददगार होती है।



और भी पढ़ें :