लगातार कंप्यूटर पर कार्य करते हैं तो हो सकता है टेनिस एल्बो


21वी सदी को का युग माना गया है। भारत में भी सेक्टर जंगल की आग की तरह फैल रहा है। अनेक दूसरे क्षेत्रों में भी इस्का उपयोग बढ़ गया है। लोग दिन के काम से काम 9 घंटे कंप्यूटर या लैपटॉप के सामने बिताते हैं। ऐसे में आपको एक बीमारी से बचने का ध्यान रखना चाहिए जिसका नाम है - टेनिस एल्बो
यह बीमारी युवाओं में भी तेजी से बढ़ रही है। इससे ग्रसित 40 प्रतिशत लोग ऐसे है जो निरंतर कम्प्यूटर पर टाइपिंग का कार्य करते हैं। डॉक्टरों का मानना है कि जो लोग सप्ताह में 12 घंटे से अधिक लैपटॉप और कंप्यूटर पर कार्य करते हैं वह इससे प्रभावित है। इस बीमारी में कोहनी से लेकर पूरी बाजू में इतनी पीड़ा होती है कि ब्रश करने , कंघी करने से लेकर चाय का कप पकड़ने और ताला खोलने तक में भी कठिनाई होती है।

क्यों होती है यह बीमारी
लगातार माउस चलाने या कीबोर्ड पर टाइपिंग करने के लिए कोहनी को नीचे रखना पड़ता है। इससे हड्डी और मांसपेशियों को जोड़ने वाले 'टेंडन' पर दबाव बढ़ता है जिससे वह धीरे धीरे गलने लगता है। इसका दर्द धीरे-धीरे कोहनी से उठना आरम्भ होता है और फिर पूरे हाथ में फैल जाता है।

क्या है उपाय
टाइपिंग करने में छोटे-छोटे अंतराल (ब्रेक) लेते रहें।
हाथों का मूवमेंट बदलते रहें।
कलाइयों और कोहनी के व्यायाम और स्ट्रेचिंग करते रहें।
कुछ मुलायम सपोर्ट भी कोहनी या कलाई के लिए लगा सकते हैं।



और भी पढ़ें :