Haridwar Kumbh Mela 2021 : मौनी अमावस्या के दिन जरूर करें ये 7 कार्य, मिलेगा चमत्कारिक लाभ

Ganga Dussehra 2020
Ganga Snan 2021
अनिरुद्ध जोशी|
हमें फॉलो करें
अमावस्या (अमावस) के देवता हैं अर्यमा जो पितरों के प्रमुख हैं। अमावास्या में पितृगणों की पूजा करने से वे सदैव प्रसन्न होकर प्रजावृद्धि, धन-रक्षा, आयु तथा बल-शक्ति प्रदान करते हैं। यह बलप्रदायक तिथि हैं। अमावस्या माह में एक बार ही आती है। मतलब यह कि वर्ष में 12 अमावस्याएं होती हैं। प्रमुख अमावस्याएं : सोमवती अमावस्या, भौमवती अमावस्या, मौनी अमावस्या, शनि अमावस्या, हरियाली अमावस्या, दिवाली अमावस्या, सर्वपितृ अमावस्या आदि मुख्‍य अमावस्या होती है। आओ जानते हैं मौनी अमावस्या के बारे में 7 खास बातें।


1. माघ माह की मौनी अमावस्या में पितरों के निमित्त तर्पण करना ज्यादा अच्‍छा होता है। यह दिन पितरों की पूजन और निवारण के लिए भी बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन लोग पितृ दोष से मुक्ति पाने के लिए पितरों का ध्यान करते हुए सूर्य देव को जल अर्पित करते हैं। पितृ दोष दूर करने के लिए अमावस्या के दिन पीपल के पेड़ को जल अर्पित करें और मिठाई अर्पित करें।
2. मौनी अमावस्या 11 फरवरी 2021 गुरुवार के दिन है और इसी दिन श्रवण नक्षत्र में चंद्रमा और 6 अन्य ग्रहों का मकर राशि में संयोजन एक बेहद ही दुर्लभ महा योग बना रहा है। साथ ही इस बार हरिद्वार में कुंभ चल रहा है इसीलिए मौनी अमावस्या के दिन गंगा में करने का महत्व बढ़ जाता हैं।
3. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार इस दिन लोगों को मौन रहकर पूजा-अर्चना करने से मुनि पद की प्राप्ति होती है।

4. मान्यता है कि, मौनी अमावस्या के दिन संगम तट और गंगा में स्वयं देवी-देवताओं का वास रहता है। ऐसे में इस दिन इन दोनों जगहों पर स्नान करना बहुत ही पुण्यदाई होता है।

5. मौनी अमावस्या के दिन करने से पुण्य की प्राप्ती होती है। स्नान के बाद तिल से बनी हुई वस्तुएं जैसे तिल के लड्डू, तिल का तेल या तिल, आंवला, कंबल, गर्म वस्त्र, इत्यादि चीजें किसी गरीब को दान कर दें।
6. इस दिन भगवान विष्णु के सामने घी का दीपक जलाएं और भगवान को अर्पित करें। इस दिन विष्णु आराधना करने से उनकी कृपा प्राप्त होती है।

7. मौनी अमावस्या के दिन पीपल के वृक्ष की 108 बार परिक्रमा करके कच्चा सूत बाधें और पीपल के वृक्ष पर कच्चा दूध चढ़ाएं। ऐसा करना बहुत ही शुभ माना जाता है।



और भी पढ़ें :