0

इन दिनों मौसम है खुशगवार, बजट फ्रेंडली इन जगहों पर घूमने का बना सकते प्लान

गुरुवार,जुलाई 1, 2021
0
1
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
1
2
दुनिया में सबसे बुद्धिमान प्राणी मनुष्‍य इसलिए है क्योंकि उसकी शारीरिक संवरचना प्रकृति के बहुत सारे बंधनों से मुक्त करती है और विकासक्रम में उसका मस्तिष्क हो चला है। परंतु बुद्धि का संबंध तो मस्तिष्क से ही होता है अत: ऐसे भी कई प्राणी है जो मनुष्य ...
2
3
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
3
4
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
4
4
5
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
5
6
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
6
7
प्रतिवर्ष 21 मार्च को पेड़ों के महत्व के विषय में जन-जागरूकता फैलाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 'विश्व वानिकी दिवस' मनाया जाता है। जंगलों के बचाए रखने के लिए
7
8
पहले यह चिड़िया जब अपने बच्चों को चुग्गा खिलाया करती थी तो इंसानी बच्चे इसे बड़े कौतूहल से देखते थे। लेकिन अब तो इसके दर्शन भी मुश्किल हो गए हैं और यह विलुप्त हो रही प्रजातियों की सूची में आ गई है।
8
8
9
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
9
10
उत्तराखंड का एक शहर हरिद्वार जहां लगता है विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेला। गंगा के तट पर बसा यह नगर बहुत ही खूबसूरत और प्राकृतिक छटा से परिपूर्ण है। यहां पर शिवालिक पर्वत श्रृंखला से गुजरता राजाजी नेशनल पार्क बहुत ही सुंदर है। पक्षी और वन्य प्राणियों के ...
10
11
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
11
12
मनुष्य के बाद सबसे चतुर प्राणी 'चिंपैंजी' को माना जाता है। कहा जाता है कि एक अफ्रीकी व्यक्ति ने दो वनमानुष पाले थे जिनके नाम उसने चिम और पैंजी रखे थे।
12
13
भारत के जंगलों में शानदार हाथी की चिंघाड़, मोर का नाच, ऊंट की सैर, शेरों की दहाड़, लाखों पक्षियों की चहचहाहट सुनने और देखने को मिलेगी। भारत में जंगली जीवों की बहुत बड़ी संख्या है। यहां जंगली जीवों को देखने देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। भारत में 70 से ...
13
14
रहस्यों से भरे हैं भारत के जंगल। जंगल में रहना बहुत ही रोमांचक और खतरों से भरा है। भारत कई प्रकार के जंगली जीवों का, अनेक पेड़-पौधों और पशु-पक्षियों का घर है। घने जंगल और ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों के कारण यह देश धरती का सबसे सुंदरतम स्थान है। तप और ध्यान ...
14
15
रहस्यों से भरे हैं भारत के जंगल। जंगल में रहना बहुत ही रोमांचक और खतरों से भरा है। भारत कई प्रकार के जंगली जीवों का, अनेक पेड़-पौधों और पशु-पक्षियों का घर है। घने जंगल और ऊंचे-ऊंचे पहाड़ों के कारण यह देश धरती का सबसे सुंदरतम स्थान है। तप और ध्यान ...
15
16
बाघों के साम्राज्य में डिजिटल कैमरे की घुसपैठ और पर्यटन की खुली छूट के कारण तस्कर आसानी से बाघों तक पहुंच रहे हैं और तस्करी की रूपरेखा तैयार कर रहे हैं।
16
17
भारतीय शोधकर्ताओं ने पश्चिमी घाट में मेंढक की एक नई प्रजाति का पता लगाया है। पीढ़ी-दर-पीढ़ी आनुवांशिक लक्षणों में होने वाले बदलावों और जैविक विकास के क्रम में मेंढक की यह प्र
17
18
वन्यजीव संरक्षण प्रबंधन में नवाचारी प्रयोगों और निरंतर नवीन अनुसंधानों की लगातार आवश्यकता है। वन्यप्राणी संरक्षण की योजनाओं और उनका क्रियान्वयन स्थानीय पारिस्थितिकी और सामाजिक परिवेश को केंद्र में रखकर करना होगा। इसे अदक्ष व्यक्तियों के हाथों में ...
18
19
नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल के चाय बागान, कृषि भूमि तथा इनके बीच फैले वन क्षेत्रों के छोटे-छोटे टुकड़ों समेत मानवीय उपयोग वाले विभिन्न इलाकों में तेंदुओं का अनुकूलन बढ़ रहा है और तेंदुए बड़ी संख्या में पालतू पशुओं को अपना शिकार बना रहे हैं। भारतीय ...
19