Live Updates : दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का ट्रैक्टर मार्च, सरकार से चर्चा से एक दिन पहले दिखाई ताकत

Last Updated: गुरुवार, 7 जनवरी 2021 (13:42 IST)
नई दिल्ली। कड़ी सुरक्षा के बीच हजारों किसानों ने गुरुवार को तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन स्थल-सिंघू, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैक्टर रैली निकाली। किसान आंदोलन से जुड़ी हर जानकारी...

01:41PM, 7th Jan
-कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया है कि वह दिल्ली की सीमा पर आंदोलन कर रहे किसानों की परेशानी को नहीं समझते हैं और उनकी पीड़ा पर मौन साधे हुए हैं इसलिए निराश होकर आंदोलनकारी किसान ट्रैक्टर रैली निकालने को मजबूर हो रहे हैं।
-कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने गुरुवार को यहां पत्रकारों के सवालों पर कहा कि मोदी किसानों के साथ निर्मम और निर्दयी व्यवहार कर रहे हैं। वह उनकी पीड़ा को नहीं समझ पा रहे हैं, इसीलिए उनके बारे में कुछ भी विचार करने और बोलने को तैयार नहीं है।
12:13PM, 7th Jan
-भारतीय किसान यूनियन (एकता उगराहां) के प्रमुख जोगिंदर सिंह उगराहां ने कहा कि 3500 से ज्यादा ट्रैक्टरों और ट्रॉलियों के साथ किसान मार्च में हिस्सा ले रहे हैं।
-प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों ने कहा कि 26 जनवरी को हरियाणा, पंजाब और उत्तरप्रदेश के विभिन्न हिस्सों से राष्ट्रीय राजधानी में आने वाले ट्रैक्टरों की प्रस्तावित परेड के पहले यह ‘‘रिहर्सल’’ की तरह है।
-दिल्ली पुलिस और हरियाणा पुलिस के कर्मियों की भारी तैनाती के बीच ट्रैक्टर पर सवार किसानों ने कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे की ओर मार्च शुरू किया। भाकियू नेता राकेश टिकैत की अगुवाई में ट्रैक्टर मार्च पलवल की तरफ बढ़ा है।
-संयुक्त किसान मोर्चा के एक वरिष्ठ सदस्य अभिमन्यु कोहाड़ ने कहा, 'आगामी दिनों में हम तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ अपना आंदोलन तेज करेंगे। आज के मार्च में हरियाणा से करीब 2500 ट्रैक्टर आए हैं।'
11:51AM, 7th Jan
-किसान रैली को देखते हुए दिल्ली से लगी सीमाओं पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम।
-सिंघू, औचंदी, प्याऊ मनियारी, सबोली और मंगेश बार्डरा यातायात के लिए बंद
-यातायात पुलिस ने कहा, 'किसानों के प्रदर्शन के कारण चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर बंद हैं। नोएडा और गाजियाबाद से दिल्ली आने के लिए आनंद विहार, डीएनडी, भोपुरा और लोनी बार्डर जैसे वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करें।'
11:41AM, 7th Jan
-कृषि कानून के खिलाफ गाजीपुर बॉर्डर पर भी किसानों का शक्ति प्रदर्शन। शुक्रवार को होगा सरकार और किसानों की बातचीत का अगला दौर।
11:35AM, 7th Jan
-किसान आज दिल्ली के चारों तरफ ट्रैक्टर मार्च निकाल रहे हैं।
-किसानों का दावा है कि इस मार्च में 60 हजार ट्रैक्टर शामिल हैं।
-मार्च सिंघु बॉर्डर से टिकरी, टिकरी से शाहजहांपुर, गाजीपुर से पलवल और पलवल से गाजीपुर तक निकाला जा रहा है।
08:37AM, 7th Jan
-बारिश से बचने के लिए सिंघु बॉर्डर पर किसानों ने लगाए वॉटरप्रूफ टेंट।
08:04AM, 7th Jan
-किसान आज सुबह 11 बजे सिंघु, टिकरी, गाजीपुर और शाहजहांपुर (हरियाणा-राजस्थान सीमा) से कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस-वे के लिए ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे।
-प्रदर्शनकारी किसान संगठनों ने दावा किया है कि विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद से करीब 80 किसानों की मौत हो चुकी है। उन्होंने इन किसानों को ‘शहीद’ करार दिया।
08:04AM, 7th Jan
-हरियाणा के जींद जिले में कई ग्रामीण महिलाएं ट्रैक्टर चलाने का प्रशिक्षण ले रही हैं। वे केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 जनवरी को राष्ट्रीय राजधानी में ‘ट्रैक्टर परेड’ में हिस्सा लेने वाली हैं।
-जींद जिले के साफा खेरी, खतकर और पल्लवन गांव की महिलाएं टैक्टर चलाना सीख रही हैं। महिलाएं सड़क पर टैक्टर-ट्रॉली चलाने का प्रशिक्षण जींद-पटियाला के टोल प्लाजा पर ले रही हैं। प्रदर्शनकारी किसानों ने टोल प्लाजा को 'नि:शुल्क' घोषित कर दिया है।
08:03AM, 7th Jan
-सरकार और किसानों में किसान कानूनों को लेकर गतिरोध बरकरार।
-किसान कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े किसान, सरकार भी मांग मानने को नहीं है तैयार।
-केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि देशभर से बड़ी संख्या में किसान 3 कृषि कानूनों के समर्थन में सामने आ रहे हैं।



और भी पढ़ें :