क्या चीन करेगा भारत पर हमला? (भविष्यवाणी)

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|

FILE
''एक पनडुब्बी में तमाम हथियार और दस्तावेज लेकर वह व्यक्ति इटली के तट पहुंचेगा और युद्ध शुरू करेगा। उसका काफिला बहुत दूर से इतालवी तट तक आएगा।'' (11-5)- नास्त्रेदमस।
नास्त्रेदमस (Nostradamus) फ्रांस के एक भविष्यवक्ता थे। उनका जन्म 16वीं सदी के प्रारंभ में फ्रांस के एक छोटे से गांव में हुआ था। उन्होंने प्राकृतिक, राजनीतिक और धार्मिक घटनाओं संबंधी कई भविष्यवाणी की है। उनकी बहुत सी भविष्यवाणी को सच होने का दाव ‍भी किया जाता रहा है। 16वीं सदी के इस भविष्यवक्ता की कथित भविष्यवाणियां बीसवीं शताब्दी के आम लोगों के बीच बहुत लोकप्रिय हो गईं हैं।

नास्त्रेदमस ने तृतीय विश्वयुद्ध और जन्म लेने वाले महान राजनेताओं के बारे में भी बहुत कुछ लिखा है। उन्होंने अमेरिका, जर्मन, ब्रिटेन, रूस, और भारत में महान राजनेताओं के उदय और उनके कार्यों के संबंध में भविष्यवाणियां की है। जहां तक सवाल है तृतीय विश्व युद्ध का इसके बार में व्याख्याकारों में मतभेद हैं।

नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों के प्रमुख व्याख्‍याकार रेने नूरबरेजन (Rene Noorbergen) ने यह सिद्ध किया कि तृतीय विश्व युद्ध में कमजोर राजनीतिक नेतृत्व के चलते भूमि बन जाएगा। लेकिन भारतीय व्याख्याकार ऐसा नहीं मानते। उनके अनुसार भारत 21वीं सदी में विश्व की शक्ति बन जाएगा। इसके लिए उन्होंने नास्त्रेदम की कई भविष्यवाणियों का उदाहरण दिया है।

गौरतलब है कि ज्यादातर व्याखाकर खुद के देश के संबंध में अच्‍छी ही भविष्यवाणियों का पक्ष लेते रहे हैं। जर्मनी ने दूसरे विश्वयुद्ध में नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों को अपने हित में इस्तेमाल किया था।

...अगले पन्ने पर पढ़ेतृतीय विश्व युद्ध में चीन की भूमिका और नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी


 

और भी पढ़ें :