1000 रुपए को बना दिया 76.4 करोड़, 13 साल की हुई क्रिप्टोकरेंसी Bitcoin

पुनः संशोधित मंगलवार, 4 जनवरी 2022 (19:02 IST)
दुनिया की क्रिप्टोकरेंसी (Bitcoin) ने 13वें साल में प्रवेश कर लिया है। बिटकॉइन का 13 साल का यह सफर उतार-चढ़ाव वाला रहा है। हालांकि यह विवादित करेंसी आज भी संघर्ष कर रही है, लेकिन इसने अपने निवेशकों को भरपूर लाभ दिया है।

बिटकॉइन का श्वेतपत्र सातोशी नाकामोतो द्वारा 28 अक्टूबर, 2008 को जारी किया गया था, लेकिन मिंट डेट 3 जनवरी, 2009 है, इसीलिए लोग 3 जनवरी को ही इसका जन्मदिन मानते हैं। Mudrex के सीईओ और सह-संस्थापक एडुल पटेल (Edul Patel) ने कहा कि दुनिया भर में क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन (blockchain) के उदय के पीछे बिटकॉइन की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
बिटकॉइन के क्रिएटर नाकामोतो ने 3 जनवरी को बिटकॉइन का ऑरिजिनल ब्लॉक रिलीज किया था।

इसे वर्तमान में जेनेसिस ब्लॉक (Genesis Block) के नाम से जाना जाता है।
इसमें पहली 50 बिटकॉइन थीं। शुरुआत से लेकर अब तक बिटकॉइन ने कितना रिटर्न दिया इसकी गणना करना थोड़ा कठिन है, क्योंकि उस समय जब इसे पेश किया गया था तब इसकी कीमत शून्य थी।

जुलाई 2010 में इसकी कीमत $0.09 हो गई और नवंबर 2021 में यह 68,790 डॉलर के ऑल टाइम हाई पर पहुंच गई थी। बिटकॉइन ने पिछले 13 साल में अपने निवेशकों को भारी-भरकम रिटर्न दिया है।

इसने अपने रजिस्टर लो से ऑल टाइम हाई तक 7,64,33,233 का अविश्वसनीय रिटर्न दिया है। शुरुआत में किसी निवेशक ने इसमें 1000 रुपए का निवेश किया होता तो नवंबर 2021 में यह राशि 76.43 करोड़ रुपए बन जाती।



और भी पढ़ें :