श्रीलंका ने 27 साल बाद विश्व कप में वेस्टइंडीज को 23 रनों से हराया, मैच में 653 रन बने और 15 विकेट गिरे

Last Updated: मंगलवार, 2 जुलाई 2019 (00:24 IST)
चेस्टर ली स्ट्रीट। निकोलस पूरन (118) के बेहतरीन शतक ने श्रीलंका के माथे पर एक समय पसीना ला दिया था लेकिन 2 साल बाद पहली बार गेंदबाजी कर रहे ने पूरन को आउट कर अपनी टीम के रास्ते का सबसे बड़ा कांटा दूर कर दिया। श्रीलंका ने वेस्टइंडीज से यह मुकाबला सोमवार को 23 रनों से जीतकर आईसीसी विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने की अपनी हल्की-सी उम्मीदों को कायम रखा है।
श्रीलंका ने 50 ओवरों में 6 विकेट पर 338 रनों का मजबूत स्कोर बनाया और पूरन के शतक के बावजूद वेस्टइंडीज की चुनौती को 50 ओवरों में 9 विकेट पर 315 रन पर थाम लिया। श्रीलंका की 8 मैचों में यह तीसरी जीत है और उसके 8 अंक हो गए हैं। श्रीलंका को अब अपना आखिरी मैच भारत से खेलना है और उसे जीतने के साथ ही दूसरी टीमों के परिणामों पर नजर रखनी है।

वेस्टइंडीज को इस तरह 8 मैचों में 6ठी हार का सामना करना पड़ा। लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्टइंडीज ने अपने 5 विकेट 145 रन पर गंवा दिए थे। ने 35, शिमरॉन हेत्मायेर ने 29 और कप्तान जैसन होल्डर ने 26 रन बनाए। सुनील अम्ब्रीश और शाई होप 5-5 रन ही बना सके।
5 विकेट निकल जाने के बाद निकोलस पूरन ने मोर्चा संभाला और कार्लोस ब्रेथवेट के साथ 6ठे विकेट के लिए 54 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी की। इस साझेदारी में ब्रेथवेट का योगदान मात्र 8 रन था। पूरन को इसके बाद फाबियन एलन के रूप में बेहतरीन जोड़ीदार मिला।
पूरन और एलन ने 7वें विकेट के लिए 83 रनों की बेशकीमती साझेदारी की और मैच को रोमांचक बना दिया। एलन ने पूरन को बचाने की कोशिश में खुद को रनआउट करा लिया। एलन ने मात्र 32 गेंदों पर 51 रनों में 7 चौके और 1 छक्का लगाया। एलन का यह पहला अर्द्धशतक था।

पूरन ने कुछ देर बाद क्रिकेट के किसी भी वर्ग और प्रारूप में अपना पहला शतक पूरा कर वेस्टइंडीज की उम्मीदों को कायम रखा। मैदान में मुकाबला पूरन और श्रीलंका के गेंदबाजों के बीच चल रहा था और श्रीलंका के रास्ते की सबसे बड़ी बाधा पूरन थे। मुकाबला लगातार रोमांचक होता जा रहा था।
श्रीलंका के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने 48वां ओवर अपने सबसे अनुभवी खिलाड़ी एंजेलो मैथ्यूज को दिया जिन्होंने पिछले 2 वर्षों में गेंदबाजी नहीं की थी लेकिन उन्होंने पहली ही गेंद पर पूरन को विकेटकीपर के हाथों कैच करा दिया।

पूरन के आउट होते ही वेस्टइंडीज की उम्मीदें टूट गईं। पूरन ने 103 गेंदों में 11 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 118 रन बनाए। पूरनों का विकेट 308 के स्कोर पर गिरा। वेस्टइंडीज की टीम 315 रन ही बना सकी। लसित मलिंगा ने 55 रन पर सर्वाधिक 3 विकेट लिए।

इससे पहले शीर्ष क्रम के बल्लेबाज आविष्का फर्नांडो (104) के पहले शतक की बदौलत श्रीलंका ने 6 विकेट पर 338 रनों का मजबूत स्कोर बनाया। फर्नांडो ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 9वें वनडे में अपना पहला शतक बनाया। 21 वर्षीय फर्नांडो ने 103 गेंदों पर 104 रनों की पारी में 9 चौके और 2 छक्के लगाए। वे अपनी टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाने के बाद टीम के 314 के स्कोर पर 48वें ओवर में आउट हो गए।
श्रीलंका ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर पहले विकेट के लिए 93 रनों की शानदार ओपनिंग साझेदारी की। कप्तान दिमुथ करुणारत्ने ने 48 गेंदों पर 32 रनों में 4 चौके लगाए जबकि कुशल परेरा ने 51 गेंदों पर 64 रन में 8 चौके लगाए। दोनों ओपनर 11 रनों के अंतराल में आउट हुए लेकिन इसके बाद फर्नांडो ने शानदार बल्लेबाजी की।
फर्नांडो ने तीसरे विकेट के लिए कुशल मेंडिस के साथ 85, चौथे विकेट के लिए एंजेलो मैथ्यूज के साथ 58 और 5वें विकेट के लिए लाहिरु तिरिमाने के साथ 67 रनों की साझेदारी की। मेंडिस ने 41 गेंदों पर 39 रनों में 4 चौके, मैथ्यूज ने 20 गेंदों पर 26 रनों में 2 चौके और 1 छक्का तथा तिरिमाने ने 33 गेंदों पर नाबाद 45 रनों में 4 चौके लगाए।
सेमीफाइनल की होड़ से पहले ही बाहर हो चुकी कैरेबियाई टीम का गेंदबाजी में प्रदर्शन निराशाजनक रहा। कप्तान जैसन होल्डर ने 59 रनों पर 2 विकेट लिए जबकि शैल्डन कॉट्रैल, ओशन थॉमस और फाबियन एलन ने 1-1 विकेट लिया। (वार्ता)


और भी पढ़ें :