UP : सिर्फ 10 जिलों में पाबंदियां, 65 जिलों में कर्फ्यू में छूट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमण के मामलों में कमी के मद्देनजर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 4 जून (शुक्रवार) से प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में ओपीडी (बाह्य रोगी सेवाएं) सेवाएं बहाल करने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री ने कोरोना के अतिरिक्त अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों की भर्ती करने और उनको समय से इलाज की सुविधाएं देने के आदेश दिए हैं। प्रदेश के सिर्फ 10 जिलों में पाबंदियां रहेंगी, जबकि 65 जिले अब कोरोना कर्फ्यू के प्रतिबंधों से मुक्त हो गए हैं।

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री के इस आदेश के बाद कोरोना के इतर अन्य बीमारियों से ग्रसित लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। सामान्य मरीज भी अस्पतालों में डॉक्टरों को दिखा सकेंगे, उचित परामर्श हासिल कर ऑपरेशन कराना उनके लिए आसान हो जाएगा।

उन्होंने बताया कि संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर जिन मरीजों के ऑपरेशन तीन महीने से रूके हुए हैं उनके ऑपरेशन भी अब हो सकेंगे। प्रवक्ता ने बताया कि गर्भवती महिलाओं के साथ बच्चों को भी चिकित्सीय सुविधाएं मिलने से उनको राहत मिलेगी। उन्होंने एक बयान में बताया कि मार्च माह से शुरू कोरोना महामारी की दूसरी लहर के मद्देनजर उत्तर प्रदेश के कई शहरों में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया था।

प्रवक्ता ने बताया कि कोविड-19 मरीजों को तत्काल इलाज की सुविधा देने के लिए लखनऊ में 73 अस्पतालों को कोविड अस्पताल बनाया गया था। प्रदेश के अन्य बड़े शहरों में भी बड़ी संख्या में सरकारी व निजी अस्पतालों को कोविड अस्पताल घोषित किया गया था। अब इन कोविड अस्पतालों में भी ओपीडी सेवाओं की शुरुआत होगी। अन्य गंभीर रोगों से पीड़ित मरीजों की भर्ती और इलाज मिलना शुरू हो जाएगा।
बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अधिक से अधिक लोगों को प्रोत्साहित किया जाए कि वे बीमारी के इलाज में सहायक बनी ई-संजीवनी और ‘टेलीकन्सल्टेशन’ का उपयोग करें। प्रवक्ता ने बताया कि सरकार इसके जरिए गंभीर मरीजों को घर पर ही उपचार की सुविधाएं दे रही हैं।
इस बीच, उत्तर प्रदेश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 94 फीसदी गिरावट आने के कारण 65 जिलों में कोरोना कर्फ्यू में छूट दे दी गई हैं। प्रवक्ता के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में झांसी जिले में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 600 से कम होने पर वहां कोरोना कर्फ्यू से छूट दे दी गई है।
उन्होंने बताया कि इस तरह उत्तर प्रदेश के 65 जिले अब कोरोना कर्फ्यू के प्रतिबंधों से मुक्त हो गए हैं। इस छूट के तहत निषिद्ध क्षेत्रों को छोड़कर बाकी सभी स्थानों पर सप्ताह में पांच दिन दुकानें और बाजार कोरोना के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए खोले जा सकते हैं।

प्रदेश के मेरठ, लखनऊ, सहारनपुर, वाराणसी, गाजियाबाद, गोरखपुर, मुजफ्फरनगर, बरेली, गौतमबुद्ध नगर और बुलंदशहर जिलों में 600 से अधिक उपचाराधीन मरीज होने के कारण कोरोना कर्फ्यू में फिलहाल कोई छूट नहीं दी गई हैं।(भाषा)

और भी पढ़ें :