बच्चों में दिखे Omicron के लक्षण, पेरेंट्स की बढ़ी चिंता

पुनः संशोधित शुक्रवार, 14 जनवरी 2022 (20:41 IST)
नई दिल्ली। (coronavirus) का नया वैरिएंट (omicron) बच्चों को भी अपने शिकंजे में ले रहा है। इसके चलते अभिभावकों की चिंता भी काफी बढ़ गई है। इसका कारण यह भी बताया जा रहा है कि बच्चों को वैक्सीन नहीं लगी है। इम्युनिटी अच्छी होने के बावजूद अब बच्चों के भी कोरोना से संक्रमित होने के मामले बढ़ने लगे हैं।

स्वास्थ्य से जुड़े एक अध्ययन में पाया गया है कि ओमिक्रॉन के सबसे आम लक्षण नाक बंद होना, गले में खराश या चुभन, सूखी खांसी और पीठ के निचले हिस्से में दर्द है। हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि गले में खराश और कफ बच्चों की तुलना में बड़ों में ज्यादा देखने को मिल रहा है। हालांकि बच्चों में ज्यादातर मामले हेल्के हैं, लेकिन बच्चे बीमार तो पड़ ही रहे हैं।

विशेषज्ञों बच्चों को इस वायरस से बचाकर रखने की सलाह दे रहे हैं। हालांकि भारत में बच्चों में फिलहाल ओमिक्रोन के कोई गंभीर लक्षण देखने को नहीं मिले हैं, लेकिन अमेरिका के अस्पतालों में बच्चों के भर्ती होने की संख्या तेजी से बढ़ रही है।
हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि कोविड के सामान्य लक्षणों में से कई लक्षण ओमिक्रॉन में कॉमन नहीं हैं। डेल्टा और अल्फा वैरिएंट से संक्रमित लोगों में सुगंध और स्वाद की कमी जैसे लक्षण देखे गए थे, लेकिन ओमिक्रोन में ये लक्षण नहीं पाए जा रहे हैं। हालांकि राहत की बाद यह है कि ओमिक्रोन संक्रमित मरीजों की अस्पताल में भर्ती होने की संख्या अन्य वैरिएंट की तुलना में काफी कम है।




और भी पढ़ें :