देश में Coronavirus से भयावह हालात, कई राज्‍यों में लौटा प्रतिबंधों का दौर, स्कूल-कॉलेज बंद

Last Updated: बुधवार, 5 जनवरी 2022 (23:26 IST)
नई दिल्ली। देश पर महामारी का खतरा एक बार फिर मंडरा रहा है। महाराष्‍ट्र और दिल्‍ली कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है। कोरोना के नए वैरिएंट के चलते खतरा और बढ़ रहा है। लगातार बढ़ते संक्रमण के मामलों को देखते हुए अब कई राज्‍यों ने अपने स्‍कूल-कॉलेज और अन्‍य शैक्षणिक संस्‍थान बंद कर दिए हैं।

दिल्‍ली, चंडीगढ़, बिहार, यूपी, हरियाणा समेत कई राज्‍यों में स्‍कूल बंद किए जा चुके हैं जबकि कई अन्‍य राज्‍यों में अभी स्थिति पर विचार किया जा रहा है।
तेलंगाना राज्‍य में भी सभी स्‍कूल-कॉलेज 8 जनवरी से बंद हो जाएंगे। सभी शैक्षणिक संस्‍थान 16 जनवरी तक बंद रहेंगे। राज्‍य ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह फैसला लिया है। पंजाब में भी सभी शैक्षणिक संस्‍थानों को बंद करने का आदेश दिया है।

स्‍कूल-कॉलेज फिलहाल 15 जनवरी तक बंद रहेंगे। गोवा सरकार ने भी कोरोना के चलते सभी स्‍कूल-कॉलेज बंद करने का आदेश जारी किया है। राज्‍य में 26 जनवरी तक सभी शैक्षणिक संस्‍थान बंद रहने वाले हैं।

बिहार सरकार ने राज्य में बढ़ते कोरोना मामलों के बीच नए प्रतिबंधों की घोषणा की है। बच्चों के टीकाकरण अभियान और बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए राज्य ने कक्षा 8 तक राज्य के सभी स्कूलों को बंद करने की घोषणा की है। कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए ऑफलाइन कक्षाओं को प्रतिबंधों के साथ अनुमति दी गई है।
महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर सभी गैर कृषि स्वायत्त विश्वविद्यालय, तकनीकी एवं संबद्ध महाविद्यालय 15 फरवरी तक बंद रहेंगे। इस दौरान कक्षाएं ऑनलनाइन तरीके से चलती रहेंगी और इन सभी विश्वविद्यालयों एवं संबद्ध महाविद्यालयों में परीक्षाएं भी ऑनलाइन तरीके से होंगी।

सभी गैर-कृषि, स्वायत्त विश्वविद्यालयों एवं संबद्ध महाविद्यालयों में कक्षाएं 15 फरवरी तक बंद रहेंगी। इस दौरान अध्यापन ऑनलाइन तरीके से जारी रहेगा। इन सभी विश्वविद्यालयों एवं संबद्ध महाविद्यालयों की परीक्षाएं भी ऑनलाइन होंगी।

कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि के कारण मुम्बई और पुणे में पहली से आठवीं तक के लिए विद्यालय पहले ही बंद कर दिये गये हैं। महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों में संक्रमण में बड़ी वृद्धि हुई है और अकेले मंगलवार को 18466 नये मामले सामने आये। राज्य में अब तक ओमीक्रोन के 653 मामलों का पता चला है।



और भी पढ़ें :