अभ्यास शुरू करने से पहले फिटनेस टेस्ट पास करना होगा : रोहित शर्मा

Last Updated: सोमवार, 25 मई 2020 (11:24 IST)
मुंबई। भारत के सीमित ओवरों के उपकप्तान रोहित शर्मा ने कहा है कि इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड दौरे के दौरान लगी पिंडली की चोट से वे पूरी तरह से उबर गए हैं, लेकिन (Corona virus)

महामारी से निपटने के लिए हुए के कारण उनके में लगातार विलंब हो रहा है।
न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 श्रृंखला के दौरान रोहित 2 फरवरी को चोटिल हो गए थे और दौरे के बीच से ही उन्हें स्वदेश वापस लौटना पड़ा। वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की घरेलू एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला का हिस्सा नहीं थे जिसे बाद में कोरोना वायरस महामारी के कारण रद्द करना पड़ा। उस समय रोहित रिहैबिलिटेशन से गुजर रहे थे।

रोहित ने शनिवार रात ला लीगा के फेसबुक लाइव सत्र के दौरान कहा कि लॉकडाउन से पहले मैं वापसी के लिए लगभग पूरी तरह से तैयार था। पूरा सप्ताह मेरा फिटनेस टेस्ट होना था लेकिन फिर लॉकडाउन हो गया और अब फिर नए सिरे से वापसी करनी होगी।

उन्होंने कहा कि सब कुछ खुलने के बाद मुझे एनसीए जाकर फिटनेस टेस्ट देना होगा। उसे पास करके ही मैं टीम के साथ जुड़ सकूंगा। तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर कोरोना वायरस के कारण दो महीने के ब्रेक के बाद शनिवार को
आउटडोर ट्रेनिंग दोबारा शुरू करने वाले पहले भारतीय क्रिकेट बने थे।

महाराष्ट्र सरकार ने ग्रीन और ऑरेंज जोन में स्थित स्टेडियमों में दर्शकों के बिना व्यक्तिगत अभ्यास की अनुमति दे दी है। रोहित ने कहा कि उन्हें टीम के साथियों के साथ समय नहीं बिता पाना खल रहा है और चीजों के सामान्य होने पर वह उनके साथ दोबारा ट्रेनिंग करने को लेकर उत्सुक हैं।

उन्होंने कहा कि हां, मुझे टीम के अपने साथियों की कमी खल रही है, उनके साथ समय बिताना और उनके साथ हंसी-मजाक करना। हालांकि हम वीडियो कॉल के जरिए एक-दूसरे के संपर्क में रहने का प्रयास कर रहे हैं।

मुंबई इस संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित शहरों में शामिल है और रोहित ने कहा कि उन्हें ट्रेनिंग दोबारा शुरू करने में अधिक समय लग सकता है। उन्होंने कहा कि मैं मानकर चल रहा हूं कि अन्य स्थानों पर मुंबई से काफी पहले ट्रेनिंग शुरू हो सकती है क्योंकि यह सबसे अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों में है।
उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि अन्य साथी एक दूसरे के साथ ट्रेनिंग के वीडियो मेरी तुलना में काफी पहले देने लगेंगे। मुंबई के रहने वाले रोहित ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान उन्होंने अपने खान-पान पर ध्यान दिया और दौड़ भी लगा रहे हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :